कांग्रेस की सरकार में ही पाकिस्तान के दो टुकड़े हुए थेः हुड्डा

कांग्रेस की सरकार में ही पाकिस्तान के दो टुकड़े हुए थेः हुड्डा

नई दिल्ली: हरियाणा विधानसभा चुनाव में भाजपा के राष्ट्रवाद के विमर्श के जवाब में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने बृहस्पतिवार को कहा कि ‘हम सभी राष्ट्रवादी है’ और कांग्रेस की सरकार में ही पाकिस्तान के दो टुकड़े हुए थे।

चुनाव प्रचार में जोरशोर से जुटे हुड्डा ने यह दावा भी किया इस बार भाजपा और कांग्रेस में मुख्य मुकाबला है व इंडियन नेशनल लोक दल (इनेलो) और जननायक जनता पार्टी (जजपा) ‘अप्रासंगिक’ हो चुकी हैं। उन्होंने जजपा और इनेलो के संदर्भ में यह टिप्पणी उस वक्त की है जब कांग्रेस छोड़ चुके पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने इस चुनाव में जजपा का समर्थन करते हुए लोगों से मुख्यमंत्री पद के लिए दुष्यंत चौटाला का साथ देने की अपील की है।

कांग्रेस की चुनाव प्रबंधन समिति के प्रमुख हुड्डा ने यह उम्मीद जताई कि इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ‘पूर्ण बहुमत’ हासिल करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं राज्य में घूम रहा है, फिजा बदली हुई है। पूरे राज्य में कांग्रेस के पक्ष में हवा चल रही है। पार्टी को जो समर्थन मिल रहा है उससे मुझे विश्वास है कि हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है।’’ यह पूछे जाने पर कि भाजपा इस चुनाव में 370 के मामले को आक्रामक ढंग से उठा रही है, इसका क्या असर होगा तो हुड्डा ने कहा, ‘‘जहां तक अनुच्छेद 370 का सवाल है तो पूरा देश मेरे विचार के बारे में जानता है। परंतु यह चुनाव का मुद्दा नहीं है क्योंकि अब कानून बन चुका है।’’

उन्होंने यह भी कहा, ‘‘यह देश का कानून है और इसका कोई विरोध नहीं कर रहा है। अब सिर्फ एक मुद्दा है कि कश्मीर में शांति स्थापित रहे।’’ भाजपा द्वारा राष्ट्रवाद और 370 को प्रमुख चुनावी मुद्दा बनाने से जुड़े सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘कांग्रेस के समय में तो पाकिस्तान के दो टुकड़े हो गए थे। यह (370) मुद्दा नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम सब राष्ट्रवादी हैं। मेरे पिता राष्ट्रवादी थे, मेरे दादा स्वतंत्रता सेनानी थे। कांग्रेस ने इस देश को स्वतंत्रता दिलाई है।’’

हुड्डा ने यह भी कहा, ‘‘सांसद चुनने के लिए मुद्दे अलग होते हैं लेकिन विधानसभा चुनाव अलग होता है। इस चुनाव में स्थानीय मुद्दे महत्वपूर्ण है। भाजपा सरकार ने 154 वादे किए थे, लेकिन उसने एक भी वादा नहीं पूरा किया। इस वजह से किसान, व्यापारी, अधिकारी कोई भी खुश नहीं है।’’

यह पूछे जाने पर कि क्या वह राज्य के अगले मुख्यमंत्री बन सकते हैं तो हुड्डा ने कहा कि फिलहाल उनका मकसद कांग्रेस को जीत दिलाना है। उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्रीय पार्टियों में वर्तमान मुख्यमंत्री चेहरा होता है। अगर वर्तमान मुख्यमंत्री नहीं है तो फिर विधायक एवं आलाकमान फैसला करते हैं। यह कांग्रेस और भाजपा दोनों में होता है।’’ यह पूछे जाने पर कि रैलियों में आने वाले लोग उन्हें ही मुख्यमंत्री के रूप में देखने की बात करते हैं तो उन्होंने कहा, ‘‘यह लोगों की भावना है।’’

तंवर द्वारा जजपा का समर्थन करने पर हुड्डा ने कहा कि जब किसी ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था वो कहीं भी जा सकता है और किसी का भी समर्थन कर सकता है। विधानसभा चुनाव में ‘मोदी फैक्टर’ की बात को खारिज करते हुए हुड्डा ने कहा कि लोग खट्टर सरकार की विफलताओं और उनके 10 साल की उपलब्धियों के बारे में बातें कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘लोग अकलमंद हैं और उनका ध्यान नहीं भटकने वाला है।’’ कांग्रेस के चुनाव घोषणापत्र का उल्लेख करते हुए हुड्डा ने कहा कि किसानों की कर्जमाफी की जाएगी। उन्होंने कहा, ‘‘बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा है। हरियाणा में बेरोजगारी 28 फीसदी तक पहुंच गई है।

देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी हरियाणा में है। यहां कोई नया उद्योग नहीं आ रहा है। सरकार सिर्फ इवेंट मैनेजमेंट में व्यस्त है।’’ भाजपा के ‘75 पार’ वाले दावे पर हुड्डा ने कहा, ‘‘हवा पलट चुकी है।’’ सोनिया गांधी के खिलाफ मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की हालिया टिप्पणी पर हुड्डा ने कहा कि जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों को संवेदनशील बयान देना चाहिए और अगर कोई इस तरह का बयान देता है तो वह ‘निंदनीय है।’’ उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा कांग्रेस पूरी तरह एकजुट है और तथा पार्टी में वरिष्ठ एवं नए नेताओं के बीच कोई टकराव नहीं है।