घरेलू हिंसा मामले में शमी के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी

घरेलू हिंसा मामले में शमी के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी के लिए बुरी खबर है। पश्चिम बंगाल की अलीपुर कोर्ट ने घरेलू हिंसा मामले में मोहम्मद शमी और उनके भाई हासिद अहमद के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। अब अलीपुर कोर्ट ने दोनों को 15 दिन के भीतर सरेंडर करने के आदेश दिए हैं।

मोहम्मद शमी के खिलाफ इस साल मार्च में दहेज उत्पीड़न और यौन उत्पीड़न के मामले में चार्जशीट दाखिल की गई थी। उन पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 498 ए (दहेज उत्पीड़न) और 354 ए (यौन उत्पीड़न) के तहत आरोप लगाए गए थे। भारतीय क्रिकेट टीम के इस तेज गेंदबाज पर उनकी पत्नी हसीन जहां ने पिछले साल भी दहेज उत्पीड़न, शारीरिक उत्पीड़न, मैच फिक्सिंग जैसे कई आरोप लगाए थे। हालांकि, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने जांच के बाद फिक्सिंग के आरोपों से उन्हें क्लीन चिट दे दी थी।

मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने अपने फेसबुक अकाउंट पर कई फोटोज शेयर करते हुए अपने पति पर कई लड़कियों के साथ अवैध संबंध रखने का आरोप लगाया था। हसीन ने शमी और उन लड़कियों के बीच हुई वॉट्सऐप चैट के स्क्रीनशॉट भी शेयर किए थे। एक फोटो में शमी किसी महिला के साथ खड़े दिख रहे थे। हसीन ने उस महिला को शमी की ‘गर्लफ्रेंड’ बताया था।

इस साल 28 अप्रैल को हसीन बेटी और मेड के साथ अमरोहा स्थित ससुराल पहुंची तो उनकी ससुराल वालों से कहासुनी हो गई। इस बीच आरोप लगा कि है कि आधी रात को ही अमरोहा के डिडौली थाने की पुलिस शमी के घर से हसीन जहां, बेटी व मेड को जबरन थाने उठा ले गई। जिसके बाद हसीन जहां ने आधी रात को हिरासत में लिए जाने के खिलाफ इलाहाबाद हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल की और कहा कि यह सब उनके पति मोहम्मद शमी के इशारे पर हुआ था। जिसके बाद अब कोर्ट ने डिडौली थाने के इंचार्ज व चार अन्य पुलिस सब इंस्पेक्टरों को अवमानना का नोटिस जारी किया था।