अमरीका ने फिर जताई जम्मू कश्मीर के हालात पर चिंता

अमरीका ने फिर जताई जम्मू कश्मीर के हालात पर चिंता

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के मौजूदा हालात पर अमेरिका लगातार नजर बनाए हुए है और लोगों की नजरबंदी और वहां लगातार जारी प्रतिबंधों से चिंतित है. अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता का यह बयान तब आया है जब कुछ दिन पहले ही भारत ने इस बात पर जोर दिया था कि जम्मू कश्मीर द्विपक्षीय मामला है और इसमें तीसरे पक्ष के मध्यस्थता की ज़रूरत नहीं है. अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि हम मानवाधिकारों के लिए सम्मान, क़ानूनी प्रक्रियाओं के अनुपालन, और प्रभावित लोगों के साथ एक समावेशी बातचीत का अनुरोध करते हैं.

उन्होंने कहा कि हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस कथन का स्वागत करते हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि जम्मू कश्मीर जल्द ही एक सामान्य राजनीतिक स्थिति में लौट आएगा. हालांकि अमेरिका ने पाकिस्तान को भी परोक्ष रूप से चेतावनी दी है कि वह लाइन ऑफ़ कंट्रोल पर शांति बहाल रखे और सीमापार से आतंकवाद पर लगाम लगाए.

तीन दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फ्रांस में जी-7 शिखर सम्मेलन के इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ जम्मू कश्मीर पर 'बहुत विस्तार से' बातचीत की थी. चर्चा के दौरान पीएम मोदी ने जोर देकर कहा था कि 1947 से पहले भारत और पाकिस्तान एक थे और दोनों देशों के बीच सभी मुद्दे भी द्विपक्षीय थे. इसमें किसी भी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता को अस्वीकार्य है. पीएम मोदी ने कहा था, 'भारत और पाकिस्तान के बीच कई द्विपक्षीय मुद्दे हैं, और हम किसी तीसरे देश को परेशान नहीं करना चाहते हैं. हम इन मुद्दों पर द्विपक्षीय रूप से चर्चा और समाधान कर सकते हैं.'

बातचीत के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था, 'प्रधानमंत्री मोदी को वास्तव में लगता है कि स्थिति उनके नियंत्रण में है. दोनों लोगों (नरेंद्र मोदी और इमरान ख़ान) के साथ मेरे बहुत अच्छे संबंध हैं और मैं यहां हूं. मुझे लगता है कि वे इस मुद्दा सुलझा ख़ुद हल सकते हैं.

इस बीच गुरुवार को ही विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि कश्मीर को लेकर पाक का रवैया 'गैरजिम्मेदाराना' हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान हिंसा फैलाने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है. विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि पाकिस्तानी नेताओं द्वारा कश्मीर को लेकर की जा रही गैरजिम्मेदाराना टिप्पणियों की भारत निंदा करता है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत के आंतरिक मामले में पाकिस्तान बयानबाजी कर रहा है, भारत में जिहाद करने की बात पाक की तरफ से हो रही है. दुनिया अब पाकिस्तान की चाल समझ चुकी है.