मायावती फिर बनीं बसपा सुप्रीमो

मायावती फिर बनीं बसपा सुप्रीमो

यूपी विधानसभा उपचुनाव के लिए प्रत्याशियों के नाम का ऐलान

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी ने उपचुनावों को लेकर अहम घोषणा कर दी है. पार्टी ने बुधवार को लखनऊ में आयोजित राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 13 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव अकेले लड़ने का ऐलान कर दिया है. साथ ही 11 प्रत्याशियों के नामों का ऐलान भी कर दिया है. आज हुई इस बैठक में एक बार फिर सर्वसम्मति से मायावती को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष भी चुन लिया गया. इस बैठक में उपचुनाव के लिए प्रत्याशियों के नाम पर भी मुहर लगा दी गई है.

बैठक में बसपा सुप्रीमो मायावती ने सभी 13 विधानसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. यह पहला मौका है जब बसपा उपचुनाव लड़ने जा रही है. बसपा ने 13 में से 11 सीटों के लिए प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं. घोसी सीट से कय्यूम अंसारी, मानिकपुर से राजनारायण निराला, हमीरपुर से नौशाद अली, जैदपुर से अखिलेश अंबेडकर, बलहा से रमेश गौतम, टूंडला से सुनील कुमार चित्तौड़, लखनऊ कैंट से अरुण द्विवेदी, प्रतापगढ़ सदर से रंजीत सिंह पटेल, रामपुर से जुबेर मसूद खान और कानपुर से देवी प्रसाद तिवारी. जलालपुर सीट से अभी प्रत्याशी के नाम का ऐलान नहीं किया गया है. सहारनपुर सीट पर मायावती को फैसला लेना है. बता दें इन सभी को जिन सीटों पर उपचुनाव होने हैं वहां का प्रभारी बनाया गया है. बसपा में जो प्रभारी होता है उसे ही टिकट मिलता है.

बैठक में मायावती ने पार्टी पदाधिकारियों को तीन राज्यों में होने वाले चुनाव और उत्तर प्रदेश के उपचुनाव को मजबूती और पूरी ताकत से लड़ने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि पार्टी को सत्ताधारी बीजेपी और कांग्रेस दोनों के खिलाफ इस चुनाव में लड़ना है. बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बैलेंस ऑफ़ पावर बनकर आगे बढ़ना है. सत्ता की मास्टर चाभी अपने हाथों में लिए बिना हमारे लोगों का हित और कल्याण संभव नहीं है.

Lucknow, Uttar Pradesh, India