उन्नाव रेप पीड़िता रोड एक्सीडेंट: ट्रक के नंबर पर लगी काली स्याही में छिपा हो सकता है कालापन

उन्नाव रेप पीड़िता रोड एक्सीडेंट: ट्रक के नंबर पर लगी काली स्याही में छिपा हो सकता है कालापन

नई दिल्ली: रविवार को उन्नाव रेप केस पीड़िता की कार का एक्सीडेंट हो गया। रायबरेली में एक ट्रक ने उनकी कार को टक्कर मार दी। इस हादसे में पीड़िता की मां और चाची की मौत हो गई, जबकि वो और उसका वकील गंभीर रूप से घायल हैं। इस संबंध में एडीजी लखनऊ जोन, राजीव कृष्णन ने अस्पताल का दौरा करने के बाद कहा, 'डॉक्टरों ने मुझे बताया है कि उन्हें (पीड़िता और उसके वकील) को लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। उनकी कुछ हड्डियों में फ्रैक्चर हो गया है। उनमें से एक के सिर में चोट लगी है।'

उन्होंने बताया, 'ट्रक को जब्त कर लिया गया है, चालक को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। लेकिन अभी तक कोई प्राथमिकी (FIR) दर्ज नहीं की गई है, मैंने उनसे (पीड़ित के रिश्तेदारों) से अनुरोध किया है कि वे जल्दी से एक प्राथमिकी दर्ज करें।'

हादसे में उन्नाव की रहने वाली वह लड़की शामिल है, जिसने उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाया था। सेंगर इस मामले में गिरफ्तार किए गए थे। ये सभी रायबरेली जेल में बंद पीड़िता के चाचा से मुलाकात करने जा रहे थे।

एडवोकेट महेंद्र सिंह (उन्नाव रेप केस में पीड़िता के वकील) के जूनियर एडवोकेट विमल कुमार यादव ने कहा, 'पीड़ित, उसकी मां, उसकी चाची, और उसका वकील दुर्घटना में घायल हो गए। पीड़ित की मां और चाची ने दम तोड़ दिया; पीड़िता और उसके वकील की हालत गंभीर है।'

पीड़िता ने वर्ष 2017 में उन्नाव से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाया था। लड़की द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लखनऊ स्थित सरकारी आवास के बाहर आत्मदाह की कोशिश किए जाने के बाद यह मामला प्रकाश में आया था। उन्नाव के बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर, उनके भाई अतुल सिंह 2018 से जेल में हैं। पीड़िता के पिता की न्यायिक हिरासत में मौत हो गई थी।

Uttar Pradesh, India