जब मीडिया के सामने एक दूसरे को जान से मारने की धमकी देने लगे BJP विधायक

जब मीडिया के सामने एक दूसरे को जान से मारने की धमकी देने लगे BJP विधायक

नई दिल्ली: उत्तराखंड में सत्तारूढ़ भाजपा की किरकिरी होने लगी है। वजह ये है कि पार्टी के दो विधायक मीडिया के सामने ही एक-दूसरे को जान से मारने की धमकी देने लगे। एक का नाम देशराज कर्णवाल है, जो राज्य के हरिद्वारा के झबरेड़ा से विधायक हैं। वहीं, दूसरे का नाम कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन है, जो खानपुर से विधायक हैं। शुक्रवार को कर्णवाल ने चैंपियन को ‘झूठा आदमी तथा झूठी डिग्री रखने वाला फर्जी चैंपियन’ बताया था। इससे नाराज चैंपियन ने कर्णवाल को रूड़की के नेहरु स्टेडियम में कुश्ती करने की चुनौती दी और कहा, “एक थप्पड़ लगने के बाद वे (कर्णवाल) खड़े नहीं हो पाएंगे।” इसके जवाब में कर्णवाल ने कहा, “अब हथियारों का समय है।”

लोकसभा चुनाव के दौरान दो भाजपा विधायकों के आपस में भिड़ने की वजह से यह घटना चर्चा में बनी हुई है। कर्णवाल पहली बार विधायक बने हैं। भाजपा में शामिल होने से पहले वे बसपा में थे। वहीं, चैंपियन चौथी बार विधायक बने हैं और पूर्व लंधौरा राजघराने से संबंध रखते हैं। इस वाकयुद्ध की शुरूआत बीते गुरुवार को तब हुई थी, जब कर्णवाल ने चैंपियन को ‘राजसी बहुरुपिया’ बताया था। कर्णवाल ने कहा था, “सबसे पहली बात ये है कि वे किसी शाही पृष्टभूमि से नहीं आते हैं। उनकी शैक्षणिक योग्यता और खिलाड़ी होने का दावा दोनों दिखावा है। उन्होंने कभी स्कूल में भी गिल्ली डंडा नहीं खेला है।” इसके जवाब में चैंपियन ने कर्णवाल को कुश्ती के असली मुकाबले की चुनौती दी। विधायक ने कहा, “उन्हें दिखाना चाहता हूं कि मैं किस धातु का बना हूं। मैं एक पहलवान हूं और मेरे एक थप्पड़ के बाद वे सही से उठ भी नहीं पाएंगे।”

रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार की सुबह चैंपियन एक भगवा टोपी और टी-शर्ट पहन स्टेडियम पहुंच गए और कर्णवाल का इंतजार करने लगे। कैमरामैन के सामने पहलवानी के अपने दांव-पेच दिखाने लगे। हालांकि, कर्णवाल यहां नहीं पहुंचे। इस पर चैंपियन ने कर्णवाल को ‘चूहा’ बता दिया। बाद में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने अंगुली के माध्यम से बंदूक का इशारा किया और कहा, “यह हथियारों का समय है।” साथ ही उन्होंने कहा कि चैंपियन ‘पागल’ हैं। इस मामले को लेकर वे सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात करेंगे।

वहीं, इस पूरे मामले पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि उन्हें इसके बारे में जानकारी मिली है। उन्होंने कहा, “मैंने दोनों विधायकों से भावनाओं को काबू में रखने और किसी के ऊपर व्यक्तिगत हमला नहीं करने को कहा है। जब मैं देहरादून लौटूंगा तो दोनों से मुलाकात होगी। पार्टी किसी भी तरह की अनुशासनहीन कार्रवाई को बर्दास्त नहीं करेगी।”

India