सोनिया गांधी ने 'इंडिया शाइनिंग' की दिलाई याद, रायबरेली से भरा पर्चा

सोनिया गांधी ने 'इंडिया शाइनिंग' की दिलाई याद, रायबरेली से भरा पर्चा

रायबरेली से तौक़ीर सिद्दीक़ी

लखनऊ : कांग्रेस नेता और यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने गुरुवार को रायबरेली सीट से अपना नामांकन दाखिल किया। इस मौके पर सोनिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को खुद को अपराजेय नहीं समझना चाहिए। कांग्रेस नेता ने पीएम मोदी को 2004 के भाजपा के नारे 'इंडिया शाइनिंग' की याद दिलाई। उन्होंने कहा कि उस समय अटल बिहारी वाजपेयी भी खुद को अजेय समझे थे लेकिन चुनाव में उनकी हार हुई।

रायबरेली सीट पर पर्चा दाखिल करने पहुंचीं सोनिया गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यदि यह सोचते हैं कि वह अजेय हैं तो ऐसी बात बिल्कुल नहीं है। उन्हें 2004 को नहीं भूलना चाहिए। उस समय प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी खुद को अपराजेय समझते थे लेकिन चुनाव में उनकी हार हुई।'

सोनिया का निशाना भाजपा के 2004 के नारे 'इंडिया शाइनिंग' पर था। पांच साल के शासन के बाद चुनावों के दौरान एनडीए ने अपना यह नारा दिया था लेकिन 2004 में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए की हार हुई थी और कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए ने केंद्र की सत्ता में वापसी की। उस समय के ज्यादातर एक्जिट पोल्स में एनडीए के जीतने की भविष्यवाणी की गई थी लेकिन ये अनुमान गलत साबित हुए। सोनिया के पर्चा दाखिले के समय राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा भी मौजूद थे।

राहुल ने कहा, 'भारतीय इतिहास में ऐसे बहुत लोग हुए हैं जिनमें दंभ था और जो यह मानते थे कि वह अपराजेय एवं लोगों से भी बड़े हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले पांच सालों में देश के लोगों के लिए कुछ भी नहीं किया है। चुनाव परिणाम जब आएंगे तो उनकी अपराजेयता खुलकर सामने आ जाएगी।' राफेल डील पर पीएम पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, 'अब सुप्रीम कोर्ट भी राफेल डील की जांच करने लगा है। पीएम को बताना चाहिए कि उन्होंने अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपए क्यों दिए। राफेल डील में भ्रष्टाचार पर मैं उनके खुलकर चर्चा करने के लिए तैयार हूं।'

Uttar Pradesh, India