ब्रिटेन में विकिलीक्‍स के संस्थापक जूलियन असांज गिरफ्तार

ब्रिटेन में विकिलीक्‍स के संस्थापक जूलियन असांज गिरफ्तार

लंदन : विकीलीक्‍स के संस्थापक जूलियन असांज को गिरफ्तार कर लिया गया है। इक्‍वाडोर के दूतावास से ब्रिटिश पुलिस ने उन्‍हें गिरफ्तार किया। लंदन स्थित इक्‍वाडोर के दूतावास ने ब्रिटिश पुलिस को बुलाया था, जिसके बाद मेट्रोपॉलिटन पुलिस सर्विस (MPS) ने गुरुवार (11 अप्रैल) को उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया। असांज 2012 से ही यहां शरण लिए हुए थे। असांज को गिरफ्तार करने वाली पुलिस का कहना है कि उन्‍हें कोर्ट में पेश नहीं होने के लिए हिरासत में लिया गया है।

ब्रिटिश पुलिस का कहना है कि इक्‍वाडोर की सरकार ने असांज को दी गई शरण को हटा लिया था, जिसके बाद दूतावास में इक्‍वाडोर के राजदूत ने उन्‍हें बुलाया था और वहां उन्‍होंने विकिलीक्‍स के संस्‍थापक को गिरफ्तार कर लिया। असांज ने यौन उत्‍पीड़न के मामले में स्‍वीडन प्रत्‍यर्पित होने से बचने के लिए इक्‍वाडोर के दूतावास में शरण ली थी। हालांकि यह मामला वापस ले लिया गया, पर असांज ने ऐसी आशंका जाहिर की कि उसे अमेरिका में विभिन्‍न गोपनीय सूचनाओं के खुलासे को लेकर वहां प्रत्‍यर्पित किया जा सकता है, जहां संघीय जांच एजेंसी विकिलीक्‍स की जांच कर रही है।

इक्‍वाडोर के राष्‍ट्रपति का कहना है कि असांज द्वारा लगातार अंतराष्‍ट्रीय कानूनों के उल्‍लंघन के कारण उन्‍हें दिया गया राजनीतिक शरणार्थी का दर्जा वापस ले लिया गया है। हालांकि विकिलीक्‍स का कहना है कि इक्‍वाडोर ने उन्‍हें दी गई राजनीतिक शरण वापस लेते हुए अंतरराष्‍ट्रीय कानूनों का उल्‍लंघन किया है।

यहां गौर करने वाली बात है कि असांज के खुलासों का जहां कुछ लोग यह कहते हुए समर्थन कर रहे हैं कि उन्‍होंने इन खुलासों के जरिये सत्‍ता के दुरुपयोग को उजागर किया, वहीं जांच एजेंसियों का मानना है कि इन खुलासों से उन्‍होंने अमेरिका की सुरक्षा को खतरे में डालने का प्रयास किया।