उस्‍मान ख्‍वाजा, टीम पेन ने ऑस्‍ट्रेलिया को हार से बचाया

उस्‍मान ख्‍वाजा, टीम पेन ने ऑस्‍ट्रेलिया को हार से बचाया

दुबई: सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा (141) की बेहतरीन शतकीय पारी और ट्रेविस हेड (72) व कप्तान टिम पेन (नाबाद 61) की संघर्षपूर्ण पारियों के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने दुबई अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए पहले टेस्ट मैच में पाकिस्तान से जीत छीनते हुए मैच ड्रॉ कराने में सफलता हासिल की. पाकिस्तान ने चौथी पारी में ऑस्ट्रेलिया के सामने 462 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था. कंगारू टीम ने पांचवें और आखिरी दिन गुरुवार को अपनी दूसरी पारी में आठ विकेट पर 362 रन बनाते हुए मैच ड्रॉ करा लिया. गौरतलब है कि उस्‍मान ख्‍वाजा का जन्‍म 18 दिसंबर 1986 को पाकिस्‍तान के इस्‍लामाबाद शहर में ही हुआ था. बाद में वे अपने परिवार के साथ ऑस्‍ट्रेलिया में सेटल हो गए थे. ख्‍वाजा को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया.

ऑस्ट्रेलिया ने दिन की शुरुआत तीन विकेट के नुकसान पर 136 रनों के साथ की थी. इस समय लग रहा था कि पाकिस्तानी गेंदबाज पांचवें दिन बाकी के सात विकेट ले सीरीज में 1-0 की बढ़त ले लेंगे, लेकिन पहले दिन 50 के स्कोर पर नाबाद रहने वाले ख्वाजा और उनके साथ लौटने वाले हेड ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की उम्मीद को धराशायी कर दिया. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 132 रनों की साझेदारी की. 175 गेंद खेलकर पांच चौके मारने वाले हेड 219 के कुल स्कोर पर मोहम्मद हफीज की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए. पदार्पण कर रहे मार्नस लाबुसचांजे सिर्फ 13 रनों का योगदान देकर 252 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट लिए.

यहां लगा कि ऑस्ट्रेलिया की बल्‍लेबाजी जल्‍द ही समर्पण कर देगी, लेकिन ख्वाजा को कप्तान का साथ मिला. दोनों ने मिलकर टीम का स्कोर 300 के पार पहुंचा दिया. इसी बीच यासिर शाह ने ख्वाजा को पेवेलियन भेज पाकिस्तान की जीत की उम्मीदों को जिंदा किया. ख्वाजा 331 के कुल स्कोर पर ऑस्ट्रेलिया के छठे विकेट के रूप में आउट हुए. उन्होंने अपनी जुझारू पारी में 302 गेंदों का सामना करते हुए 11 चौकों की मदद से शतकीय पारी खेली. मिशेल स्टार्क (1) भी 333 के कुल स्कोर पर आउट हो गए जिससे मैच में रोमांच आ गया लेकिन कप्तान पेन ने 34 गेंदों में नाबाद पांच रन बनाने वाले नाथन लॉयन की के साथ मिलकर पाकिस्तान को जीत के मुहाने से निराश लौटने का दर्द दिया. पेन ने अपनी नाबाद पारी में 194 गेंदें खेलीं और सिर्फ पांच चौके लगाए.