सूरत में कठुआ जैसी हैवानियत

सूरत में कठुआ जैसी हैवानियत

रेप के बाद 11 साल की मासूम की हत्या, शरीर पर मिले यातनाओं के 80 निशान

सूरत : बच्चियों से दरिंदगी की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं. कठुआ में 8 साल की मासूम के साथ दरिंदगी के बाद उसकी निर्मम हत्या से देश में आक्रोश का माहौल फैला हुआ है. इस बीच सूरत से भी एक बच्ची के साथ दुष्कर्म के समाचार मिले हैं. यहां बीते 6 अप्रैल को एक 11 साल की बच्ची का शव मिला. बच्ची के शरीर पर चोटों के 80 निशान मिले हैं. हत्या से पहले बच्ची के साथ दुष्कर्म की भी पुष्टि हुई है.

पुलिस ने बताया कि सूरत के पांडेसरा स्थित सांई मोहन सोसाइटी के पीछे एक मैदान में 6 अप्रैल को एक बच्ची का शव मिला. बच्ची की पहचान नहीं हो पाई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि बच्ची के साथ दुष्कर्म किया गया और फिर उसकी हत्या की गई. बच्ची के शरीर पर चोटों के 80 निशान मिले हैं.

सूरत के पुलिस कमिश्नर सतीश शर्मा ने बताया कि बच्ची की पहचान के लिए शहर और आसपास के इलाकों में 1 हजार से अधिक पोस्टर लगाए गए हैं और पीड़िता या उसके परिवार के बारे में सूचना देने वाले को 20 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की गई है. उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ रेप, हत्या और पॉक्सो समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है. केस को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है. पुलिस की टीमें अलग-अलग इलाकों में जाकर छानबीन कर रही हैं.

देश में कठुआ के बाद एक और बच्ची के साथ हैवानीयत पर विरोधी दलों ने राज्य सरकार पर हमला बोला है. राज्य में मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने आरोप लगाया कि पुलिस ने इस मामले में 10 दिनों तक दबाए रखा था. इसके पीछे पुलिस की मंशा क्या थी यह साफ होनी चाहिए.

India