कठुआ-उन्नाव गैंगरेप की घटनाओं पर पूरे देश में उबाल

कठुआ-उन्नाव गैंगरेप की घटनाओं पर पूरे देश में उबाल

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के कठुआ में आठ साल की मासूम के साथ हुए गैंगरेप और उसकी निर्मम हत्या, वहीं उन्नाव में नाबालिग के साथ हुए गैंगरेप की घटनाओं से पूरा देश गुस्से में है. पिछले तीन-चार दिनों से अलग-अलग शहरों में इन घटनाओं के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं. रविवार को दिल्ली के पार्लियामेंट स्ट्रीट और मुंबई के कार्टर रोड में बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतरे हैं.

मुंबई में हो रहे प्रोटेस्ट में बॉलीवुड से जुड़ी कई हस्तियां भी शामिल हुई हैं. प्रोटेस्ट मार्च में शामिल संगीतकार विशाल दादलानी ने कहा कि जो घटनाएं हुईं वे देश के लिए शर्मनाक हैं और देश की बेटियों को इंसाफ और सुरक्षा मिलनी चाहिए.

दिल्ली के संसद मार्ग पर लोग बैनर पोस्टर लेकर बैठे हैं. एक पोस्टर में लिखा है, 'चुप्पी अब कोई उपाय नहीं है, इंसाफ चाहिए.' रेप की घटनाओं के विरोध में बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री के सितारे 'मैं हिंदुस्तान हूं, मैं शर्मिंदा हूं' लिखे पोस्टर्स के साथ अपनी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं. वहीं इन घटनाओं के विरोध में हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, बिहार के विभिन्न शहरों में लोगों ने प्रदर्शन किया है.

कठुआ मामले में जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बीजेपी के दो मंत्रियों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. इन दोनों नेताओं ने आरोपियों के समर्थन में रैली निकाली थी. विपक्ष के दबाव के बाद दोनों मंत्रियों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. वहीं उन्नाव मामले के मुख्य आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को शनिवार को 7 दिनों की सीबीआई हिरासत में भेजा गया है. वहीं पीड़िता को सेंगर तक पहुंचाने वाली शशि सिंह नाम की महिला को 4 दिन की सीबीआई हिरासत में भेजा गया है.

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में आठ साल की एक बच्ची के साथ गैंगरेप और हत्या के मामले को लेकर देश भर में गुस्सा है. जम्मू कश्मीर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सोमवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में 15 पेज का आरोपपत्र दाखिल किया. इसमें बकरवाल समुदाय की बच्ची के अपहरण, बलात्कार और उसकी हत्या को लेकर रोंगटे खड़े कर देने वाले खुलासे हुए हैं. (पढ़ेंः सिर्फ बातें हो रही हैं, जमीन पर कुछ नहीं)

वहीं उन्नाव से बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर एक नाबालिग लड़की के साथ जून 2017 में कथित रेप का आरोप लगाया है. लड़की का कहना है कि न्याय के लिए वह उन्नाव पुलिस के हर अधिकारी के पास गई है, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई. उसका आरोप है कि विधायक और उनके साथी पुलिस में शिकायत न करने का दबाव बनाते रहे हैं और इसी क्रम में उन लोगों ने 3 अप्रैल को उसके पिता के साथ मारपीट की, जिसके चलते हिरासत में उनकी मौत हो गई. इस लड़की ने 9 अप्रैल को मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह करने की भी कोशिश की, जिसके बाद यह मामला सुर्खियों में आया.

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को रात 12 बजे दिल्ली के इंडिया गेट पर कैंडल मार्च किया था. राहुल गांधी के कैंडल मार्च को लेकर रविवार को केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि राहुल ने यूपीए शासन के दौरान हुई रेप की घटनाओं पर कैंडल मार्च क्यों नहीं निकाला.

India