भारत इसराइल के साथ राजनीतिक संबंध खत्म करे: मौलाना कल्बे जवाद

भारत इसराइल के साथ राजनीतिक संबंध खत्म करे: मौलाना कल्बे जवाद

लखनऊ: इसराइल के प्रधानमंत्री नितिन याहू के भारत दौरे की मजलिसे उलेमाए हिंद के महासचिव व इमाम जुमा मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने कड़ी आलोचना की। मौलाना ने अपने बयान में कहा कि हमारे देश को पता होना चाहिए कि अगर कोई सबसे बुरा दोस्त हो सकता है तो वह इसराइल है,मौलाना ने कहा कि भारत में आतंकवादी घटनाओं का सिलसिला तबसे शुरू हुआ जबसे यहां इसराइल का दूतावास खुला है ,यदि भारत आतंकवाद से निपटना चाहता है तो पहले इसराइल से राजनीतिक संबंधों को खत्म करना चाहिए क्योंकि वैश्विक आतंकवाद का संस्थापक इसराइल है। मौलाना ने कहा कि इसराइल किसी का दोसत नही हो सकता क्योंकि उसकी योजना पूरी दुनिया पर शासन करने की है, इस समय दुनिया में जहां भी आतंकवाद है उसके पीछे इसराइल और उसके खरीदे हुये लोग और उसके प्रशिक्षित संगठन हैं।

मौलाना ने अपने बयान में भारत सरकार से कहा कि हम अपनी सरकार से अपील करते हैं कि इसराइल से दोस्ती खत्म करे क्योंकि हमारा देश हमेशा फिलीस्तीनी मजलूमों का समर्थक रहा है और जालिम एवं गासिब इसराइल ने फिलीस्तीनियों पर जुल्म व बर्बरता की हद कर रखी है।

जुमा की नमाज के खुतबे से पहले मौलाना रजा हैदर ने भी अपनी तकरीर में नितिन याहू के भारत दौरे की निंदा की और भारत सरकार से मांग करते हुये कहा कि इसराइल से राजनीतिक संबंध समाप्त किए जाएं क्योंकि इसराइल एक आतंकवादी और गासिब देश है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India