मायावती भी तीन तलाक बिल प्रवर समिति भेजने के पक्ष में

मायावती भी तीन तलाक बिल प्रवर समिति भेजने के पक्ष में

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने तीन तलक बिल यानी मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण बिल 2017 पर विपक्ष की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि इस बिल में संशोधन आवश्यक है.

शुक्रवार को एक प्रेस रिलीज़ जारी कर मायावती ने कहा कि बसपा तीन तलाक़ बिल के पक्ष में है. लेकिन मौजूदा स्वरुप में इसे पास कराने पर मुस्लिम महिलाएं दोहरे अत्याचार की शिकार होंगी. मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर बिल को लेकर अड़ियल रुख अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्ष की मांग मानते हुए इसे प्रवर समिति के पास भेजा जाना चाहिए.

उन्होंने कहा कि जब भी कोई कानून बनता है तो उससे पहले उस पर गहन विचार-विमर्श और होम वर्क होना चाहिए. लेकिन इस सरकार ने तीन तलाक बिल को लेकर ऐसा कुछ भी नहीं किया. मायावती ने कहा कि वर्तमान विधेयक में सजा आदि का जो प्रावधान किया गया है वह तलाकशुदा मुस्लिम महिलाओं के लिए और भी ज्यादा बुरा होकर उनके लिए दिन-प्रतिदिन की और भी नई समस्याएं पैदा करेगा.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि मोदी सरकार को इस प्रकार की कमियों पर खुले मन से विचार करना चाहिए. जिसके लिए इस विधेयक को प्रवर समिति के पास भेजने की मांग की जा रही है.

मायावती ने आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार मनमानी करने की आदी हो चुकी है. चाहे वह नोटबंदी का अपरिपक्व फैसला रहा हो या फिर जल्दबाजी में जीएसटी लागू करने का. अब तीन तलाक के मुद्दे पर भी सरकार ने अड़ियल रुख अख्तियार कर लिया है. केंद्र सरकार की सी मनमानी को आखिर में जनता को ही झेलना पड़ता है.