मुलायम ने अखिलेश को सुनाई खरीखोटी पर नई पार्टी बनाने से किया इंकार

मुलायम ने अखिलेश को सुनाई खरीखोटी पर नई पार्टी बनाने से किया इंकार

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने उन अटकलों को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा जा रहा था कि वो आज (25 सितंबर को) नई पार्टी का एलान कर सकते हैं। लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर मुलायम सिंह ने साफ किया कि वो नई पार्टी का गठन करने नहीं जा रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने बेटे और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि वो मेरे बेटे हैं, इसलिए मेरा आशीर्वाद उनके साथ है लेकिन वो सफल नहीं हो सकते क्योंकि वो जुबान के पक्के नहीं हैं। मुलायम सिंह ने कहा कि अखिलेश ने कहा था कि तीन महीने के बाद वो पार्टी अध्यक्ष का पद छोड़ देंगे लेकिन अखिलेश ने ऐसा नहीं किया।

मुलायम केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर भी बरसे। उन्होंने कहा कि तीन सालों में मोदी सरकार ने एक भी वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने तंज कसा कि जो बीजेपी महंगाई और पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर हंगामा करती थी, उसके राज में पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को इसका खामियाजा भुगतना होगा। मुलायम सिंह ने राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार को भा आड़े हाथ लिया और कहा कि राज्य में कानून का शासन खत्म हो गया है। उन्होंने कहा कि बीएचयू में लड़कियां सुरक्षित नहीं हैं।

मुलायम ने कहा कि यूपी में योगी सरकार भी अपने सारे वादों को लागू करने में फेल रही है। उन्होंने कहा कि बिजली पर उनके कई वादे फेल हुए हैं। सपा नेता ने कहा गांव तो छोड़िए, लखनऊ में भी बिजली नहीं मिल रही है। बेटे अखिलेश के बारे में नेताजी ने कहा कि वो उनके फैसले से खुश नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अखिलेश के जिन फैसलों से वो संतुष्ट नहीं हैं, उसके बारे में जल्द ही बताएंगे।

मुलायम ने लोहिया ट्रस्ट कार्यालय परिसर में आयोजित संवाददता सम्मेलन में समाजवादी विचारधारा के लोगों से अपील की कि वह सपा से जुड़ें। एक अन्य सवाल पर अखिलेश की आलोचना करते हुए मुलायम ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने विधानसभा चुनाव के बाद पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने का वादा किया था, जिसे उन्होंने पूरा नहीं किया। जो व्यक्ति अपनी बात का पक्का नहीं हो और जिसने अपने बाप को धोखा दिया, वह किस्मत का धनी नहीं हो सकता। इस सवाल पर कि मुलायम सिंह अखिलेश के साथ हैं या उनके प्रतिद्वंदी चाचा शिवपाल सिंह यादव के साथ, मुलायम ने कहा मैं समाजवादी पार्टी के साथ हूं।