BHU में घमासान, प्रदर्शनकारी स्टूडेंट्स पर लाठीचार्ज, हवाई फायरिंग भी

BHU में घमासान, प्रदर्शनकारी स्टूडेंट्स पर लाठीचार्ज, हवाई फायरिंग भी

वाराणसी: बीएचयू कैंपस में छेड़खानी के मुद्दे पर शनिवार देर रात कुलपति आवास के सामने उग्र प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं पर सुरक्षाबल ने जमकर लाठीचार्ज किया। जवाब में पथराव कर रहे प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने कई राउंड हवाई फायरिंग की। परिसर में छात्रों ने प्रॉक्टोरियल बोर्ड के वाहनों में तोड़फोड़ के बाद कई स्थानों पर आगजनी व पथराव किया। इस घटना में घायल पांच छात्र-छात्राओं और दो सुरक्षाकर्मियों को बीएचयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। इनमें एक पुलिस का जवान है।

लाठीचार्ज और फायरिंग के बाद छात्रों ने महिला महाविद्यालय, बिरला छात्रावास के सामने समेत कई स्थानों पर जमकर तोड़फोड़ की। बिरला हॉस्टल के सामने एक स्कूटी फूंक दी। सुरक्षाबलों पर पथराव भी किया। इस घटना के बाद परिसर में अफरातफरी का माहौल बन गया। कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ सीआरपीएफ के जवान परिसर में उपद्रवी छात्रों की तलाश में फैल गये थे। वहीं, परिसर में बवाल की सूचना के बाद लंका क्षेत्र की अधिकतर दुकानें बंद हो गईं।

इसके पहले धरनारत छात्राओं की शनिवार रात आठ बजे कुलपति प्रो. जीसी त्रिपाठी से वार्ता नहीं हो सकी। बातचीत के लिए त्रिवेणी संकुल जा रहे वीसी की कार के आगे प्रदर्शनकारी लेट गये। उन्हें बीच रास्ते लौटना पड़ा। शनिवार पूरे दिन छात्राओं का प्रदर्शन क्रमश: सिंहद्वार, महिला महाविद्यालय के सामने चला। देर रात काफी संख्या में छात्र-छात्राएं वीसी लॉज पहुंच गये और वहां धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया। माहौल अनियंत्रित होता देख सुरक्षाकर्मियों ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कर दिया। जवाब में प्रदर्शनकारियों ने पथराव शुरू कर दिया।

बीएचयू कैंपस में छेड़खानी के विरोध में छात्राओं का धरना शनिवार को भी जारी रहा। हॉस्टलों के वार्डेन व चीफ प्रॉक्टर पूरे दिन स्थिति सामान्य करने में लगे रहे। आंदोलित छात्रों ने कैंपस में कई जगह पोस्टर चिपकाकर अन्य छात्र-छात्राओं से प्रदर्शन में शरीक होने की अपील की। महिला महाविद्यालय की छात्राएं कुलपति के विरोध में हैं जबकि त्रिवेणी संकुल की छात्राएं समर्थन कर रहीं हैं।

शनिवार रात आठ बजे त्रिवेणी संकुल में आंदोलित छात्राओं से बात करने जा रहे कुलपति की गाड़ी के सामने प्रदर्शनकारी लेट गए और कुलपति गो बैक का नारा लगाने लगे। कुलपति की गाड़ी वापस लौट गई। प्रदर्शनकारी त्रिवेणी संकुल की छात्राओं को प्रदर्शन में शरीक होने के लिए बुला रहे थे पर कोई छात्रा नहीं गई। प्रदर्शनकारियों ने त्रिवेणी संकुल के गेट को तोड़ने का भी प्रयास किया। यहां भी सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। इसके बाद प्रदर्शनकारियों का हुजूम कुलपति आवास पहुंच गया और वहां धरना-नारेबाजी शुरू हो गई। रात लगभग 10.30 बजे सुरक्षाकर्मियों ने यहां लाठीचार्ज शुरू कर दिया। जवाब में छात्रों ने जमकर पथराव किया।

सुरक्षाकर्मियों ने हॉस्टल रोड और बगल की रोडों पर छात्रों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा। उधर लंका गेट पर धरना दे रही छात्राओं का कहना था कि कुलपति महज आश्वासन ही देते हैं। इसलिए अब कोई भी वार्ता मीडिया के सामने होगी। छात्र-छात्राओं का हुजूम मुख्य द्वार जाम कर बीएचयू प्रशासन के विरोध में लगातार नारेबाजी करता रहा। उल्लेखनीय है कि गुरुवार को त्रिवेणी हॉस्टल में रहने वाली बीएफए की एक छात्रा के साथ बाइकसवार कुछ लोगों ने अभद्रता की थी। छात्रा ने हॉस्टल पहुंच कर अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी तो अन्य छात्राएं आंदोलित हो गईं। इसके बाद धरना-प्रदर्शन शुरू हो गया।

Uttar Pradesh, India