चाकू व रंगों से चित्र बनाकर इसहाक़ ने विदेशों में किया लखनऊ का नाम रौशन

चाकू व रंगों से चित्र बनाकर इसहाक़ ने विदेशों में किया लखनऊ का नाम रौशन

लखनऊ: नवाबी नगरी के वरिष्ठ चित्रकार और कला विशेषज्ञ मोहम्मद इसहाक थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में होने वाली ‘सार्थन 11 आर्ट स्पेस’ नाम से होने वाली प्रदशर्नी में भाग लेने के बाद आज लखनऊ वापस पहुंच गये।

बैंकाक में 9वां अन्तर्राष्ट्रीय कला मोहत्सव जोकि ‘सार्थन 11 आर्ट स्पेस’ नाम से 1 से 6 सितम्बर 2017 को सम्पन्न हुआ। जिसमें पेन्टिंग प्रदर्शनी और कार्यशाला कर आयोजन किया गया था। एस.एम.जी फाउण्डेशन के तत्वाधान में आयोजित सात द्विवसीय अन्र्ताष्ट्रीय कला प्रदशर्नी का शुभारम्भ बैंकाक आर्ट गैलरी के डायरेक्टर रुमेक और जीनत ने किया। सात दिवसीय होने वाली इस प्रदशर्नी में मो0 इसहाक़ अतिथि कलाकार की ओर से बुलवाये गये थे, कल कलकत्ता में लौटकर आयें और आज अपने वतन लखनऊ पहुंचे। इस अवसर पर वन वाइस संस्था ने उनका स्वागत फूलों से किया।

प्रदशर्नी में देश, विदेश के 20 कलाकारों की कलाकृति का प्रदशर्न किया गया। कार्यशाला के दौरान कलाकार मोहम्मद इसहाक़ ने बिना ब्रुश अथवा तुलिका के दो चित्र बनायें, ये चित्र रंगो और चाकू की मद्द से कैनवास पर बनायें। मोहम्मद इसहाक़ की कलाकारी और कौशल को लोग चकित रह गये। इसहाक ने चित्र के प्रति लोगों द्वारा जिज्ञासावश पूछे गये प्रश्नों के उत्तर भी दिये।

मोहम्मद इसहाक ने विदेश में अपनी कला द्वारा भारत और मुख्य रुप से लखनऊ का मान बढ़ाया। मो0 इसहाक मुख्य रुप से प्राकृतिक पर काम करते हैं और इनके काम की बहुत मांग है, अपनी इस कला काम क नाइफ से पेन्टिंग की। मोहम्मद इसहाक़ इससे पहले भी कई देशों में अपनी इस अद्भुत कला का प्रदर्शन कर चुके है।