सेंसर बोर्ड से पहलाज out, प्रसून in

सेंसर बोर्ड से पहलाज out, प्रसून in

नई दिल्ली: लंबे समय से विवादों में चल रहे फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी की छुट्टी हो गई है और उनकी जगह गीतकार और एडमेकर प्रसून जोशी लेंगे.

निर्माता पहलाज निहलानी लंबे समय से अपने अजीबोगरीब फैसलों और बयानों को लेकर विवादों में रहते आए थे.

हर हफ्ते किसी न किसी फिल्म को वो अश्लीलता या असंस्कारी होने की बात पर रोक लेते थे और कई मामलों में सोशल मीडिया पर उनका मजाक भी बनाया जा रहा था.

बीते दिनों फिल्म लिपस्टिक अंडर माय बुर्का की रिलीज को लेकर भी पहलाज निहलानी की काफी खिंचाई हुई थी और कई फिल्म निर्माता उनके चयन का खुले रुप से विरोध कर चुके थे.

आज ही रिलीज हुई अक्षय कुमार की फिल्म 'टायलेट एक प्रेम कथा' में भी पाँच कट लगा देने का सुझाव दे चुके पहलाज का कार्यकाल जनवरी 2018 तक था लेकिन अब पहलाज निहलानी के इस कार्यकाल का अंत करीब आ गया है. पहलाज निहलानी को फिल्म प्रमाणन बोर्ड का अध्यक्ष तब बनाया गया था जब बाबा गुरमीत राम रहीम की फिल्म को सेंसर प्रमाण पत्र देने के विवाद में तत्कालीन बोर्ड अध्यक्ष लीला सैमसन ने इस्तीफा दे दिया था.

इसके बाद पहलाज ने कार्यकाल तो संभाल लिया लेकिन इसके बाद वो विवादों में घिरे रहे. नरेंद्र मोदी के लिए एक 'मोदी काका' के नाम से एक फिल्म बना कर उन्होनें खासी किरकिरी करवाई और भाजपा ने इस फिल्म से किसी भी तरह का संबंध होने से इन्कार कर दिया.

इसके बाद अनुराग कश्यप की फिल्म 'उड़ता पंजाब' और 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' जैसी फिल्मों को रिलीज न होने देने की उनकी जिद के चलते सरकार को भी काफी खरी खोटी सुननी पड़ी थी.

अब गीतकार प्रसून जोशी इस जगह को लेंगे, प्रसून जोशी एक लेखक, स्क्रिप्टराइटर और गीतकार हैं और तारे ज़मीन पर, फना और रंग दे बसंती जैसी फिल्मों के हिट गाने लिखने के अलावा भाग मिल्खा भाग की स्क्रिप्ट भी लिख चुके हैं.