सिर्फ चुनावी शहरों में ATM से निकल रहा है कैश

सिर्फ चुनावी शहरों में ATM से निकल रहा है कैश

नोटबंदी के 100 दिन बाद भी जारी है किल्लत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नोटबंदी की घोषणा किए हुए 100 दिन बीत चुके हैं। लेकिन देश के कुछ हिस्सों में एटीएम मशीनों से अभी भी कैश नहीं निकल रहा है। आठ नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बंद करने का ऐलान किया था। इस फैसले के जरिए 86 फीसदी करेंसी वापस ले ली गई थी। इसके बाद कैश की काफी किल्लत हुई थी। लोगों को कैश के लिए कई दिनों तक बैंक की लाइन में लगना पड़ा था। हालांकि, स्थिति पूरी तरह से अभी भी नहीं सुधरी है, कई जगहों पर कैश की किल्लत अभी भी बनी हुई हैं। पीएम मोदी ने लोगों से 50 दिन का समय मांगा था। उन्होंने कहा था कि 50 दिन के बाद स्थिति सुधर जाएगी।

इंडिया टुडे ने इसको लेकर एक सर्वे किया है। सर्वे में देश के अलग-अलग शहरों में जाकर यह जांचा गया कि एटीएम मशीनों से कैश निकल रहा है या नहीं। इस सर्वे में 114 एटीएम मशीनों को जांचा गया, इनमें से 60 फीसदी से ज्यादा एटीएम से कैश नहीं निकल रहा था, केवल 39 फीसदी एटीएम ही सही से काम कर रहे थे। यह स्थिति दिल्ली और एनसीआर एरिया में और भी ज्यादा खराब हैं। यहां 56 एटीएम में से केवल 6 एटीएम मशीनों से कैश निकल रहा था। इस सर्वे में एक गौर करने वाले बात सामने आई है कि जिन जगहों पर चुनाव हैं, वहां एटीएम मशीनों से कैश निकल रहा है। मुंबई और यूपी में एटीएम मशीनों से कैश निकल रहा है, लेकिन बाकी जगह स्थिति खराब है। यूपी में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं तो वहीं मुंबई में बीएमसी के चुनाव 21 फरवरी को होंगे।

सर्वे के मुताबिक पंजाब में 84 फीसदी एटीएम मशीनों से कैश नहीं निकल रहा है। पंजाब के अमृतसर, पठानकोट और चंडीगढ़ के 16 एटीएम में से केवल 6 एटीएम काम कर रहे थे। वहीं गुजरात के अहमदाबाद में 54 फीसदी एटीएम मशीनों से कैश निकल रहा था।

लेकिन यूपी और मुंबई में एटीएम मशीनों से कैश निकल रहा है। लखनऊ, वाराणसी और इलाहाबाद में जांचे गए एटीएम में से 84.6 फीसदी एटीएम से कैश निकल रहा था। यूपी में 13 में से केवल 2 एटीएम ही काम नहीं कर रहे थे। वहीं मुंबई में 87.5 फीसदी एटीएम मशीन से कैश निकल रहा है।