महिंद्रा ने कृषि के नये युग, ‘फार्मिंग 3.0’ में कदम रखा

महिंद्रा ने कृषि के नये युग, ‘फार्मिंग 3.0’ में कदम रखा

प्रमुख ट्रैक्टर निर्माता महिंद्रा ऐंड महिंद्रा ने आज महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स (एमएसआईएए) 2017 के विजेताओं की आज घोषणा की। वर्ष 2011 में शुरू किये गये, महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स उन किसानों व संस्थानों को दिये जाते हैं जिन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ कही जाने वाली कृषि के क्षेत्र में अपना सार्थक एवं सकारात्मक योगदान दिया है।

इसके साथ, महिंद्रा थर्ड जेनरेशन के उन किसानों, नवप्रवर्तकों एवं प्रोफेशनल्स को सम्मानित करने के प्रति भी वचनबद्ध है, जो कृषि के नये युग फार्मिंग 3.0 को परिभाषित करते हैं।

डॉ. विरेंद्र लाल चोपड़ा को भारतीय कृषि में उनके बहुमूल्य योगदान के लिए महिंद्रा समृद्धि कृषि शिरोमणि सम्मान (लाईफटाइम अचीवमेंट अवार्ड) 2017 से सम्मानित किया गया। उन्हें जेनेटिक एवं प्लांट ब्रीडिंग में उनके योगदान के लिए यह पुरस्कार दिया गया। उन्हें विशेष तौर पर गेहूं की फसल पर जोर दिया, जो कि आहार आवश्यकताएं पूरी करने के लिए एक प्रमुख अनाज है।

इस अवसर पर बोलते हुए, महिंद्रा गुप के कार्यकारी अध्यक्ष, श्री आनंद महिंद्रा ने कहा, ‘‘महिंद्रा का मानना है कि भारतीय कृषि बदलाव के दौर से गुजर रही है और अब यह एक महत्वपूर्ण मोड़ पर पहुंच चुकी है जिसे हम फार्मिंग 3.0 कह रहे हैं। फार्मिंग 3.0 को नई पीढ़ी के उन किसानों, इनोवेटर्स, साइंट्स्टि्स, पॉलिसी मेकर्स एवं प्रोफेशनल्स द्वारा डिफाइन किया जायेगा, जो सामाजिक एवं पर्यावरणीय सरोकारों को ध्यान में रखते हुए प्रोडक्टिविटी और इकॉनमिक्स के बीच संतुलन स्थापित करना चाहते हैं।’’ श्री महिंद्रा ने आगे कहा, ‘‘मैं महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स 2017 के सभी विजेताओं को बधाई देना चाहूंगा। प्रत्येक विजेता भारतीय किसान के अदम्य साहस का उदाहरण प्रस्तुत करता है। ये अवार्ड्स देश में फॉर्म टेक प्रॉस्पेरिटी फैलाने और भारतीय कृषि की उत्पादकता बढ़ाने में योगदान देने वाले किसानों को सम्मानित करने के हमारे उद्देश्य का हिस्सा हैं। अपने 7वें वर्ष में, महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स पहले ही एक प्रतिष्ठित पहल बन चुका है और मुझे पक्का विश्वास है कि इससे कृषक समुदाय को प्रेरणा मिलती रहेगी।’’