ट्रंप ने ली अमेरिका के राष्‍ट्रपति पद की शपथ

ट्रंप ने ली अमेरिका के राष्‍ट्रपति पद की शपथ

वाशिंगटन: डोनाल्‍ड ट्रंप ने अमेरिका के राष्‍ट्रपति पद की शपथ ले ली. अमेरिका के मुख्‍य न्‍यायाधीश ने उन्‍हें शपथ दिलाई. ट्रंप से पहले माइक पेंस ने उपराष्‍ट्रपति पद की शपथ ली. इस तरह अमेरिका में ट्रंप युग की शुरुआत हो गई.

ट्रंप ने शपथ ग्रहण करने के बाद कहा, 'हम अधिकारों को वाशिंगटन डीसी से हस्तांतरित कर आप लोगों को वापस दे रहे हैं. उन्‍होंने कहा, '20 जनवरी, 2017 को आम लोगों के इस देश का शासक बनने के दिन के तौर पर याद किया जाएगा.' ट्रंप ने कहा कि उनका राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल ‘आने वाले कई सालों के लिए’ अमेरिका, दुनिया की दिशा तय करेगा.

ट्रंप ने दो बार राष्‍ट्रपति रहे बराक ओबामा की जगह कार्यभार संभाला. यूएस कैपिटल में ट्रंप ने परंपरा के अनुसार ऐतिहासिक लिंकन बाइबिल पर हाथ रखकर शपथ ली. उन्‍होंने अपनी मां की बाइबिल का भी प्रयोग किया. रिपोर्ट्स के अनुसार, ट्रंप ने उद्घाटन भाषण खुद लिखा है. उप राष्ट्रपति माइकल पेंस ने ‘द रीगन फैमिली बाइबल’ का इस्तेमाल किया. ट्रंप ने पद संभालने से पहले अपनी चुनावी जीत और एक ‘महान’ मंत्रिमंडल का चयन करने पर गर्व जताया था, फिर से राष्ट्रपति बनने का दावा किया और अस्थिर पश्चिम एशिया में शांति स्थापित करने के लिए अपने दामाद की क्षमताओं पर भरोसा जताया था.

70 साल के डोनाल्‍ड ट्रंप अमेरिकी इतिहास में सबसे ज्‍यादा उम्र में राष्‍ट्रपति बनने वाले शख्‍स हैं. ट्रंप ने जिंदगी में तंबाकू को हाथ तक नहीं लगाया है. वह शराब भी नहीं पीते. डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को अपनी कैबिनेट को अंतिम रूप दिया.

इससे पहले राष्ट्रपति पद की शपथ लेने से पहले डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया कि अमेरिका के राजनीतिक और आर्थिक यथास्थिति को बदलने का काम आरंभ हो रहा है. वाशिंगटन में शपथ ग्रहण के लिए लोगों के एकत्र होने के साथ ही ट्रंप ने ट्वीट किया. उन्होंने कहा, ‘आज सब आरंभ होगा. मैं इस शपथग्रहण के लिए आपसे 11 बजे मिलूंगा. आंदोलन जारी रहेगा-काम आरंभ होगा.’ शपथ ग्रहण समारोह में करीब आठ लाख लोगों के एकत्र होने का अनुमान है.

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 45वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करने से पहले शुक्रवार को प्रार्थना के लिए सैंट जॉन्स एपिसकोपल चर्च पहुंचे. ट्रंप के साथ उनके परिवार के सदस्य मौजूद थे. गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया का चर्च के द्वारा पर पादरी ने स्वागत किया.

अमेरिका में अगले चंद घंटों में राष्ट्रपति पद की शपथ लेने जा रहे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने वाशिंगटन डी.सी. में विशाल जनसमूह के समक्ष एकता का संकल्प लेते हुए देश में एक ऐसे बदलाव का वादा किया, जो दशकों में नहीं हुआ. ट्रंप ने गुरुवार शाम लिंकन मेमोरियल पर अपने समर्थकों से कहा, 'मैं आपसे वादा करता हूं कि मैं कड़ी मेहनत करूंगा. हम बदलाव करने जा रहे हैं.'

उन्होंने कहा कि वह अमेरिका में नौकरियां वापस लाएंगे और सेना व देश की सीमाओं को मजबूत करेंगे. 'पोलिटिको' के मुताबिक, ट्रंप ने कहा, 'हम कुछ ऐसे बदलाव करने जा रहे हैं, जो हमने अपने देश के लिए कई दशकों से नहीं किया. बदलाव होने जा रहा है. मैं आपसे वादा करता हूं. बदलाव होने जा रहा है.' सीबीएस न्यूज की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप गुरुवार को अपने परिवार के साथ शपथ-ग्रहण समारोह के लिए एक विमान से वाशिंगटन पहुंचे. उपराष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचित माइक पेंस के साथ ट्रंप ने अपने दिन की शुरुआत अर्लिगटन नेशनल सीमेंट्री में टॉम्ब ऑफ द अननोन सोल्जर्स पर पुष्पांजलि अर्पित करने के साथ की, जो व्हाइट हाउस में काबिज होने की औपचारिक शुरुआत है.

ट्रंप ने लिंकन मेमोरियल में छह मिनट से थोड़ा ही अधिक समय तक बोला और अपने चुनाव प्रचार अभियान के दौरान दिए गए भाषणों के वाक्यांशों को दोहराया. उन्होंने अपने चुनाव प्रचार को एक 'आंदोलन' करार देते हुए कहा कि ऐसा पहले कभी नहीं देखा गया. उन्होंने जून 2015 के उन लम्हों को याद किया, जब इसकी शुरुआत हुई थी और समय के साथ रैलियों में लोगों की भीड़ अनुमान से कहीं अधिक बढ़ती गई. उन्होंने अपने समर्थकों को याद दिलाया कि यह उनका आंदोलन है और वह केवल संदेशवाहक हैं. उन्होंने देश को एकता के सूत्र में पिरोने का संकल्प लिया. उन्होंने कहा कि अब तक जो होता आया है, उसे देखकर सब थक चुके हैं और वास्तविक बदलाव चाहते हैं. ट्रंप के मुताबिक, "हम अमेरिका को फिर से महान बनाने जा रहे हैं और मैं इसे पहले से भी ज्यादा महान बनाऊंगा.' इस संगीत कार्यक्रम में गायक व संगीतकार टॉबी कीथ, रॉक बैंड 3 डोर्स डाउन, भारतीय मूल के डीजे रविंद्रम्स और हॉलीवुड अभिनेता जॉन वॉइट सहित अन्य शामिल हुए.