भविष्य में न छापे जाएँ दो हजार के नोट

भविष्य में न छापे जाएँ दो हजार के नोट

बाबा रामदेव की पीएम मोदी को नसीहत

नई दिल्ली: योग गुरु बाबा रामदेव ने नोटबंदी के मुद्दे पर बात करते हुए कहा कि आने वाले वक्त में दो हजार के नोट को प्रिंट करना भी बंद कर देना चाहिए। मंगलवार (10 जनवरी) को छत्तीसगढ़ के एक कार्यक्रम में बोलते हुए रामदेव ने पीएम द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोट को बंद करने के फैसले की तारीफ भी की। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले वक्त में दो हजार के नोटों को बंद कर दिया जाना चाहिए। रामदेव ने कहा, ‘मार्केट में दो हजार के नकली नोट आने की वजह से नोटबंदी जिस वजहों से की गई थी उसका उल्टा प्रभाव पड़ रहा है। इस वजह से ही तो मोदीजी ने बड़ी करेंसी के नोट को बंद किया था।’ रामदेव ने आगे कहा, ‘बड़े नोटों के नकली नोट प्रिंट करना, उन्हें इधर से उधर करना आसान रहता है, साथ ही उन्हें पकड़ पाना भी मुश्किल होता है। मुझे लगता है कि आने वाले वक्त में दो हजार के नोटों को प्रिंट करना भी बंद कर देना चाहिए।’

रामदेव ने कैशलेस सोसाइटी की भी बात की। उन्होंने कहा, ‘आने वाले वक्त में कैश की जरूरत को कम किया जाना चाहिए। हम लोगों को कैशलेस सोसाइटी की तरफ बढ़ना चाहिए।’ रामदेव ने पीएम मोदी की तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी अच्छा काम कर रहे हैं और उनकी पॉलिसी देश को मजबूत करेगी। नोटबंदी की तारीफ करते हुए रामदेव ने उसे साहसिक कदम बताया। उन्होंने दावा किया कि भारतीय अर्थव्यवस्था में 80 से 85 प्रतिशत पैसा कालाधन है।

रामदेव ने ये बातें छत्तीसगढ़ में योग शिविर के एक कार्यक्रम में कहीं। तीन दिन का वह शिविर मंगलवार से दुर्ग जिले के भिलाई शहर में शुरू हुआ।