नोबल लाओ, 100 करोड़ ले जाओ

नोबल लाओ, 100 करोड़ ले जाओ

वैज्ञानिकों के लिए चंद्रबाबू नायुडु का आकर्षक ऑफर

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलगू देशम पार्टी के चीफ एन चंद्रबाबू नायडू ने राज्य के साइंटिस्टों को ऐसा ऐलान किया है कि जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। नायडू ने घोषणा की है कि जो भी साइंटिस्ट नोबेल अवार्ड लेकर आएगा, उसे राज्य सरकार की ओर से 100 करोड़ रुपए मिलेंगे। सीएम की ओर से दी जाने वाली यह प्राइज मनी नोबेल पुरुस्कार में मिलने वाली धनराशि का 17 गुना है। नोबेल पुरुस्कार में 8 मिलियन स्वीडिश क्रोनर (करीब 5.96 करोड़ रुपए) मिलते हैं। आंध्र प्रदेश को छोड़कर और किसी भी राज्य ने अपने साइंटिस्टों के लिए इस तरह की घोषणा नहीं की है।

टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक खास बात यह है कि चंद्रबाबू नायडू ने दूसरी बार ऐसी घोषणा की है। इससे पहले उन्होंने 10 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया था। उन्होंने यह बात तिरुपति में इंडियन साइंस कांग्रेस के 104वें सेशन को संबोधित करने के दौरान कही। यही नहीं राज्य के सीएम जापान के नोबेल पुरुस्कार विजेता तकाकी कजीता से सुझाव भी मांगा है कि कैसे नोबेल अवार्ड जीता जा सकता है। क्यों दिया जाता है नोबेल

नोबेल फाउंडेशन द्वारा स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में वर्ष 1901 मे शुरू किया गया यह शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है। इस पुरस्कार के रूप में प्रशस्ति-पत्र के साथ 14 लाख डालर की राशि प्रदान की जाती है। अल्फ्रेड नोबेल ने कुल 355 आविष्कार किए जिनमें 1867 में किया गया डायनामाइट का आविष्कार भी था। अल्फ्रेड नोबेल के नाम पर ही यह पुरस्कार दिया जाता है। सबसे ज्यादा नोबेल पुरस्कार पाने वाले देशों में अमेरिका शीर्ष स्थान पर है। दूसरे नंबर पर जर्मनी और इसके बाद ब्रिटेन और फ्रांस का नंबर आता है। भारत में अब तक 9 लोगों को नोबेल पुरस्कार मिला है। इनमें भारतीय मूल के लोग भी शामिल है।

India