टेस्ट के पहले सेशन में शतक बनाकर डेविड वॉर्नर ने रचा इतिहास

टेस्ट के पहले सेशन में शतक बनाकर डेविड वॉर्नर ने रचा इतिहास

सिडनी: पाकिस्तान के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ के सिडनी में खेले जा रहे अंतिम टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया (Australia vs Pakistan) के तूफानी ओपनर डेविड वॉर्नर (David Warner) ने अपने चिरपरिचित अंदाज़ में पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर धुनाई करते हुए इतिहास रच दिया. वह किसी टेस्ट के पहले दिन के पहले ही सत्र में, यानी लंच से पहले शतक लगाने वाले वर्ल्ड के पांचवें बल्लेबाज बन गए हैं. इस सूची में उनसे पहले डॉन ब्रैडमैन सहित तीन बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया के ही हैं, जबकि एक बल्लेबाज पाकिस्तान से है, लेकिन उन्होंने इस रिकॉर्ड से जुड़े एक मामले में ब्रैडमैन को भी पीछे छोड़ दिया है. वास्तव में वॉर्नर से पहले ऑस्ट्रेलियाई धरती पर ऑस्ट्रेलिया का कोई भी बल्लेबाज यह करिश्मा नहीं कर पाया था. आइए जानते हैं कि डेविड वॉर्नर से पहले किन चार बल्लेबाजों ने इस रिकॉर्ड सूची में नाम दर्ज कराया था.

सबसे पहले बात डेविड वॉर्नर की इस पारी की करते हैं. वॉर्नर ने सिडनी के ऐतिहासिक मैदान पर ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की. वह मैट रैनशॉ के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे. वॉर्नर ने 78 गेंदों पर 17 चौकों की मदद से शतक जमाया और डॉन ब्रैडमैन जैसे महान बल्लेबाज की सूची में नाम दर्ज करवा लिया. उनसे पहले ऑस्ट्रेलिया की ओर से ब्रैडमैन ने 87 साल पहले यह कमाल किया था. हालांकि शतक जमाने के बाद वॉर्नर ज्यादा देर नहीं टिक पाए और 95 गेंदों में 113 रन बनाकर वहाब रियाज़ का शिकार बन गए. यह टेस्ट क्रिकेट में वॉर्नर का 18वां शतक था.

अब बात करते हैं वर्ल्ड के अन्य बल्लेबाजों की, जो वॉर्नर से पहले यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं. इस सूची की खासियत यह है कि इसमें चार बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया के हैं, जबकि एक बल्लेबाज पाकिस्तान से है.

वॉर्नर की तरह ही ऑस्ट्रेलिया के ही बल्लेबाज विक्टर ट्रंपर ने सबसे पहले 1902 में इंग्लैंड की धरती पर उसी के खिलाफ एशेज़ सीरीज़ में पहले दिन के पहले सत्र में 103 रनों की पारी खेली थी और ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज बने थे. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने 3 रन से जीत दर्ज की थी.

इस रिकॉर्ड सूची का पहला शतक आने के 24 साल बाद वर्ल्ड क्रिकेट को ऑस्ट्रेलिया से ही दूसरा ऐसा बल्लेबाज मिला, जिसने इस कारनामे को दोहराया. चार्ल्स मैकार्टनी ने भी ट्रंपर की तरह ही 1926 में इंग्लैंड की धरती पर उसी के खिलाफ एशेज़ सीरीज़ के लीड्स में खेले गए तीसरे टेस्ट के पहले दिन के पहले सत्र में शतक जड़ा. उन्होंने 112 रनों की पारी खेली. इसमें गौर करने वाली बात यह रही कि उन्होंने ओपनिंग नहीं की थी और तीसरे नंबर पर आकर यह कारनामा किया था.

डॉन ब्रैडमैन के नाम तो रिकॉर्डों का अंबार है. उन्होंने चार साल के अंतराल के बाद ही 1930 में इस रिकॉर्ड में अपना नाम लिखवा लिया. मैकार्टनी की तरह ही ब्रैडमैन ने भी लीड्स में ही पहले दिन के पहले सत्र में 105 रन की बेहतरीन पारी खेली. खास बात यह कि ब्रैडमैन ने इसमें तिहरा शतक भी जड़ दिया था. यह मैच ड्रॉ रहा था.

इस रिकॉर्ड सूची में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के बोलबाले के बीच पाकिस्तान के माजिद खान एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं, जो बाहर के हैं. पाकिस्तान के दाएं हाथ के धुरंधर बल्लेबाज माजिद ने ब्रैडमैन के 46 साल बाद अक्टूबर, 1976 में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपनी ही धरती पर कराची में खेलते हुए यह उपलब्धि हासिल की थी. माजिद ने पहले दिन के पहले सत्र में शतक पूरा करते हुए कुल 112 रन बनाए थे. मैच अंत में ड्रॉ रहा था.