टैंकर घोटाले में FIR दर्ज

टैंकर घोटाले में FIR दर्ज

शीला और केजरीवाल से हो सकती है पूछताछ

नई दिल्ली: दिल्‍ली की भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने सोमवार को टैंकर घोटाले में एफआईआर दर्ज करा दी है। अब इस मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित से पूछताछ की जा सकती है। एसीबी प्रमुख एमके मीना ने कहा कि बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता की शिकायत पर केजरीवाल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। केजरीवाल ने पूर्व में पानी टैंकर घोटाले में दीक्षित के खिलाफ दिल्ली के उपराज्यपाल और प्रधानमंत्री के यहां एक शिकायत दायर की थी। गौरतलब है कि उपराज्यपाल नजीब जंग ने एंटी करप्शन ब्यूरो को 400 करोड़ के टैंकर घोटाले की जांच करने का आदेश दिए थे। इस घोटाले में शीला दीक्षित आरोपी हैं बता दें कि बीजेपी के नेता विजेंद्र गुप्ता द्वारा बार बार इस मुद्दे को उठाए जाने के बाद दिल्ली सरकार ने जल बोर्ड समिति की रिपोर्ट को जंग के सामने पेश किया था। इसके साथ ही जंग ने गुप्ता की उस शिकायत को भी एसीबी के सामने रखा है जिसमें अरविंद केजरीवाल पर टैंकर घोटाले से जुड़ी समिति की रिपोर्ट को 11 महीने तक दबाकर रखने का आरोप लगाया गया है। 12 जून को जल मंत्री कपिल मिश्रा ने पीएम मोदी और जंग को चिट्ठी लिखकर टैंकर घोटाले में दीक्षित के खिलाफ सीबीआई या एसीबी जांच की सिफारिश की बात कही थी। 2010-11 के दौरान टैंकर घोटाला सामने आया था। टैंकरों को पानी की सप्लाई के लिए किराए पर लेना था और उनकी सप्लाई वहां होनी थी जहां इलाकों में पाइपलाइन नहीं थी। स्टेनलेस स्टील के 450 टैंकर किराए पर लिए जाने थे। इस काम के लिए सरकार ने 2010 में टेंडर निकाला जिसकी लागत 50.98 करोड़ रुपये रखी गई थी। 2010 का टेंडर रद्द कर अगले डेढ़ साल में चार बार टेंडर निकाले गए और इसकी लागत 50.98 करोड़ से बढ़ा कर 637 करोड़ रुपए कर दी गई। दिसंबर 2011 में 10 साल के लिए टैंकर किराए पर लिए गए।

India