आरक्षण समर्थकों का मोदी सरकार पर फूटा गुस्सा

आरक्षण समर्थकों का मोदी सरकार पर फूटा गुस्सा

सुल्तानपुर की विशाल मोटर साइकिल रैली में आरक्षण समर्थकों का उमड़ा जनसैलाब सुल्तानपुर: पदोन्नतियों में आरक्षण संवैधानिक 117वाॅ बिल को लोकसभा से पास कराने व उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लगातार किये जा रहे दलित उत्पीड़न के विरोध में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ0प्र0 के तत्वाधान में आज जनपद सुल्तानपुर में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति, उ0प्र0 के संयोजक अवधेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में एक विशाल मोटर साइकिल रैली डा0 अम्बेडकर पार्क सुल्तानपुर से जनपद के अनेकों ग्रामीण क्षेत्रों से होते हुए 15 किलोमीटर का रास्ता तय किया और तत्पश्चात एक जनसभा में तब्दील हो गयी। हजारों की संख्या में आरक्षण समर्थकों के नारों के साथ पूरा सुल्तानपुर आरक्षणमय हो गया। ‘‘लोकसभा से 117वां पदोन्नति में आरक्षण बिल पास कराओ, सपा भाजपा को रिवर्ट कराओ‘‘ के नारों की गूंज लगातार होती रही। आरक्षण समर्थकों ने उ0प्र0 में मिशन 2017 के तहत आरक्षण समर्थक सरकार बनाने का संकल्प लेते हुए करो मरो के तहत आन्दोलन को और तेज करने का ऐलान किया। केन्द्र की मोदी सरकार को दलितों का सबसे बड़ा दुश्मन बताते हुए आरक्षण समर्थकों ने उसका हाल बिहार से भी बदतर करने का ऐलान किया और यह घोषणा की कि जिस प्रकार से उ0प्र0 में लाखों दलित कार्मिकों को गलत तरीके से रिवर्ट किया गया, उसी तरह सपा सरकार को भी रिवर्ट कराना हम सभी का मुख्य उद्देश्य है। सपा के दलित विरोधी विज्ञापनों पर भी समर्थकों ने बोला करारा हमला। आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उ0प्र0 के संयोजकों सर्वश्री अवधेश कुमार वर्मा, डा0 रामशब्द जैसवारा, आर0पी0 केन, अनिल कुमार, इं0 अजय कुमार, श्याम लाल, अन्जनी कुमार, रीना रजक, बनी सिंह, प्रेम चन्द्र, राम बरन, आर0ए0 कोविद, डा0 राजकरन, रमेश चन्द्र गौतम, अशोक सोनकर, रेनू, अंजली गौतम, अर्चना, श्रीनिवास राव, प्रभू शंकर राव ने विशाल मोटर साइकिल रैली में भाग लिया तत्पश्चात आरक्षण समर्थकों की विशाल सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि जब तक उ0प्र0 में आरक्षण समर्थक सरकार का गठन नहीं हो जाता तब तक हम चुप बैठने वाले नहीं है। जिस प्रकार से सपा व भाजपा द्वारा आरक्षण पर लगातार कुठाराघात किया जा रहा है, उससे पूरे देश में आरक्षण समर्थकों में रोष व्याप्त होना स्वाभाविक है। संघर्ष समिति की लड़ाई जिस प्रकार से पूरे उ0प्र0 में दिनों दिन व्यापक होती जा रही है, उससे उ0प्र0 सरकार के हौसले टूट रहे हैं। विगत दिनों संघर्ष समिति की लड़ाई का नतीजा है कि पुलिस, शिक्षा, बिजली विभाग में गलत तरीके से रिवर्ट किये गये लगभग 2 हजार दलित कार्मिकों का रिवर्शन वापस हुआ है और जल्द ही शेष सैकड़ों पुलिस कर्मियों का रिवर्शन वापस होगा, जो प्रक्रिया में है। संघर्ष समिति की इस महारैली में संघर्ष की मिसाल कानपुर दलित कन्या सुश्री साक्षी विद्यार्थी व उनके पिता कैप्टन एम0सी0 विद्यार्थी ने भी भाग लेकर आरक्षण समर्थकों का हौसला अफजायी किया। सुल्तानपुर जनपद से आरक्षण समर्थक कार्मिकों सर्वश्री एम0के0 दोहरे, सुरेश बौद्ध, श्याम बहादुर, अनुराग भारती, सुभाष चन्द्र, रामानन्द, शिवनाथ बौद्ध, राम मूरत, डा0 एस0पी0 कुटार, रमेश भारती, उमाशंकर, सुमेर सिंह भारती, उमेश चन्द्र गौतम ने भी सभा को सम्बोधित किया और आरक्षण समर्थक सरकार बनाने की अपील की।

Uttar Pradesh, India