मुफ्ती सईद ने संभाली जम्मू कश्मीर की कमान

मुफ्ती सईद ने संभाली जम्मू कश्मीर की कमान

दूसरी बार बने सीएम, भाजपा पहली बार सत्ता में भागीदार  

श्रीनगर। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के संरक्षक मुफ्ती मोहम्मद सईद ने जम्मू कश्मीर के राजनीतिक इतिहास में पहली बार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की साझेदारी में बनी सरकार के मुखिया के रूप में रविवार को शपथ ली। मुफ्ती दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने हैं। राज्य में पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार में भाजपा के डॉ निर्मल सिंह ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। राज्यपाल एन एन वोहरा ने जम्मू विश्वविद्यालय स्थित जनरल जोरावर सिंह सभागार में आयोजित एक भव्य समारोह में सईद और डॉ सिंह को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। 

इस ऐतिहासिक मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दोनों पार्टियों के प्रमुख वरिष्ठ नेता मौजूद थे। शपथ ग्रहण समारोह में दोनों पार्टियों के 25 मंत्रियों को भी मंत्रिपद की शपथ दिलाई गई। इनमें 17 केबिनेट और आठ राज्यमंत्री हैं। नए मंत्रिमंडल में दो महिलाओं प्रिया सेठी (भाजपा) और आसिया नकाश (पीडीपी) को लिया गया है। 

शपथ लेने वाले मंत्रियों में अब्दुल रहमान भट्ट, चंद्र प्रकाश, बाली भगत, सईद बशरत अहमद बुखारी, सुखनंदन कुमार, चौधरी जुल्फिकार अली, गुलाम नबी लोन, सईद मोहम्मद अलताफ लोन और नईम अख्तर शामिल हैं। उल्लेखनीय तथ्य यह भी है कि पीडीपी-भाजपा गठबंधन वाली मंत्रिमंडल में पीपुल्स कांफ्रेंस के नेता एवं पूर्व अलगाववादी रहे सज्जाद गनी लोन भी शामिल किए गए हैं। 87 सदस्यीय विधानसभा में पीडीपी और भाजपा के क्रमश: 28 और 25 सदस्य हैं। 

विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद सरकार गठन में दो माह का समय लगा। गठबंधन की शर्तो के मुताबिक सईद छह वर्षो तक मुख्यमंत्री रहेंगे जबकि भाजपा के निर्मल सिंह उपमुख्यमंत्री रहेंगे। संविधान के मुताबिक, राज्य में मुख्यमंत्री को छोड़ मंत्रि परिषद में 25 से ज्यादा मंत्री नहीं हो सकते।