चूड़ी वाले हाथों में हथियार जरूरी है: डा0 रूपल अग्रवाल

चूड़ी वाले हाथों में हथियार जरूरी है: डा0 रूपल अग्रवाल

“हेल्प यू - सिलसिला एक सहयोग का” के अन्तर्गत तृतीय सांस्कृतिक कार्यक्रम “नारी शक्ति - भारत की प्रगति“ का आयोजन 

लखनऊ: संस्कृति विभाग, उत्तर प्रदेश एवं हेल्प यू एजुकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में 25.02.2015 को संत गाडगे जी महाराज प्रेक्षागृह, संगीत नाटक अकादमी, विपिन खण्ड, गोमती नगर, लखनऊ में मासिक सांस्कृतिक कार्यक्रम “हेल्प यू - सिलसिला एक सहयोग का” के अन्तर्गत तृतीय सांस्कृतिक कार्यक्रम “नारी शक्ति - भारत की प्रगति“ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य लोगों से नारी का आदर व सम्मान देने की अपील करना था। कार्यक्रम माननीय श्री अखिलेश यादव जी, मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश, के द्धारा महिलाओं के साथ हो रही हिंसा व छेड़छाड़ को रोकने के लिये चलाई गई वूमेन पावर लाइन 1090 एवं महिला सुरक्षा को समर्पित था।

कार्यक्रम का शुभारम्भ राष्ट्रगान से हुआ, तत्पश्चात कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माननीय श्री जगमोहन यादव जी (आई.पी.एस.), डी.जी., सी.बी.सी.आई.डी., उत्तर प्रदेश, श्री विशाल कपूर जी, श्री महेन्द्र भीष्म जी, श्री शैलेन्द्र यादव जी, सुश्री रंजना अग्निहोत्री जी, अधिवक्ता उच्च न्यायालय, लखनऊ पीठ, श्री कुंवर राघवेन्द्र प्रताप सिंह, उत्तर प्रदेश पुलिस एवं इंन्चार्ज 1090 वूमेन पावर लाइन, सुश्री सत्या सिंह जी, उत्तर प्रदेश पुलिस, सुश्री सुनीता तिवारी जी, उत्तर प्रदेश पुलिस, ने दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। श्री हर्ष वर्धन अग्रवाल, फाउन्डर ट्रस्टी, हेल्प यू एजूकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट ने मुख्य अतिथि माननीय श्री जगमोहन यादव जी का प्रतीक चिन्ह व पुष्प गुच्छ द्वारा सम्मान किया। कार्यक्रम में भाग लेने वाले सभी कलाकारों, लेखक, निर्देशक व संचालक को भी माननीय मुख्य अतिथि द्धारा हेल्प यू सम्मान से नवाजा गया। शास्त्रीय नृत्य प्रस्तुति के लिये सुश्री विभु बाजपेई, सुश्री अनुष्का श्रीवास्तव, श्री दुर्गेश कुमार सिंह, एवं विभु इंस्ट्टीयुट आॅफ परफामिंग आर्ट, नाटक “सखी सहेली-1090 है अलबेली“ प्रस्तुति के लिय मीरा भारती, सोनी सिंह, अम्बरीश बाॅबी, अर्पित मिश्रा, सोनम वर्मा, उमा सिंह, हरीश बडोला, ममता प्रवीण, पारूल राम, प्रकाश परिकल्पना एवं संचालन - गोपाल सिन्हा, संगीत परिकल्पना - आलोक श्रीवास्तव, संगीत संचालन - सुमित श्रीवास्तव, रूप सज्जा - सईर, मंच निर्माण - शकील, प्रस्तुति नियंत्रक - अली अब्बास, आलेख - श्रीमती चित्रा मोहन, परिकल्पना एवं निर्देशन - संगम बहुगुणा, प्रस्तुति सहायक - रविकान्त शुक्ला, प्रस्तुतकर्ता - शैलेन्द्र यादव, कार्यक्रम के संचालक - नवल शुक्ला को सम्मानित किया गया।

हेल्प यू एजूकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट ने समाज में महिलाओं के साथ हो रही हिंसा व छेड़छाड़ को रोकने के लिये अभूतपूर्व कदम उठाने वाली तीन महिलाओं को हेल्प यू सम्मान से सम्मानित किया सुश्री रंजना अग्निहोत्री जी, अधिवक्ता उच्च न्यायालय, लखनऊ पीठ, सुश्री सत्या सिंह जी, उत्तर प्रदेश पुलिस, सुश्री सुनीता तिवारी जी, उत्तर प्रदेश पुलिस। इंन्चार्ज 1090 वूमेन पावर लाइन श्री कुंवर राघवेन्द्र प्रताप सिंह जी को भी हेल्प यू सम्मान से सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुये मुख्य अतिथि माननीय श्री जगमोहन यादव जी (आई.पी.एस.), डी.जी., सी.बी.सी.आई.डी., उत्तर प्रदेश, ने कहा उत्तर प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षित करने के लिये हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। हेल्प यू एजूकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट समाज में महिलाओं की दशा सुधारने हेतु सराहनीय प्रयास कर रहा है। महिलाओं की दशा सुधारने हेतु समाज को आगें आना होगा। वूमेन पावर लाइन 1090 महिलाओं के साथ हो रही छेड़छाड़ को रोकने में सफल साबित हुयी है। 1090 के कारण उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ हो रही हिंसा की घटनाओं मे गिरावट आई है। श्री यादव ने उपस्थित लोगो से कहा कि महिलाओ को सम्मान देकर देश की प्रगति में भागेदारी दें क्योंकि महिलायें देश को उन्नति की ओर ले जाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं।

हेल्प यू एजूकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी डा0 (श्रीमती) रूपल अग्रवाल ने सभी अतिथियों का स्वागत किया व कविता के माध्यम से कहा कि,

चूड़ी वाले हाथों में हथियार जरूरी है।

बेटी को भी उसका अधिकार जरूरी है।।

बंदूकों और तोपों से उसे खेलने दो।

क्यों कहते हो बस उसको श्रंगार जरूरी है।।

कैद करो मत उसको अपनी चारदीवारों में।

बेटी को भी सपनों का संसार जरूरी है।।

अमर हुई है जब उसने हथियार उठाये हैं।

लक्ष्मीबाई अब तो हजार जरूरी हैं।।

बहुत सहे हैं जुल्म जालिमों के उसने अब तक।

समय आ गया अब उसका प्रतिकार जरूरी है।।

अब बेटी के बलिदानों के गीत लिखो शायर।

“अभिमन्यु“ तुम्हारी कविता में अब धार जरूरी है।

चूड़ी वाले हाथों में हथियार जरूरी है।।

श्रीमती अग्रवाल ने कहा कि, महिलाओं की सुरक्षा में महिलाओं के प्रति सामाजिक सम्मान की महत्वपूर्ण भूमिका है। हेल्प यू एजुकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट महिला उत्थान के लिये निरन्तर प्रयास कर रहा है।

कार्यक्रम के प्रथम चरण में सुश्री विभु बाजपेई द्धारा भरत नाट्यम प्रस्तुत किया गया जिसकी शुरूआत गणेश स्तुति से हुई उसके पश्चात सुश्री विभु बाजपेई व उनके दो साथी कलाकारों सुश्री अनुष्का श्रीवास्तव व दुर्गेश कुमार सिंह ने महिसासुर मर्दिनी नृत्य का प्रस्तुतिकरण किया व अपने नृत्य के जरिये महिला सशक्तिकरण पर एक शानदार प्रस्तुति दी।

कार्यक्रम के द्वितीय चरण में श्री कुंवर राघवेन्द्र प्रताप सिंह जी उत्तर प्रदेश पुलिस, लखनऊ एवं इंन्चार्ज 1090 वूमेन पावर लाइन ने दर्शकों को वूमेन पावर लाइन 1090 की उपलब्धियों के बारे में बताया व कहा कि,“ किस तरह महिलायें छेड़छाड़ के विरूद्ध आत्म रक्षा कर सकती हैं। उन्होने सोशल नेटवर्किंग साइट्स जैसे यू ट्युब, फेसबुक, गुगल के द्धारा बढ़ रही महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की घटनाओं से लोगों को अवगत कराया व उसका हल भी बताया। उन्होने कहा कि किसी भी महिला के साथ कुछ गलत होने पर उसे सबसे पहले अपने माता-पिता या निकट सम्बन्धी को बताना चाहिये। महिलाओं से मेरा निवेदन है कभी भी किसी प्रकार की समस्या के लिए 1090 की सुविधा का निःसंकोच प्रयोग करें।

कार्यक्रम के तृतीय चरण में युवा उत्थान समिति द्धारा निर्देशित नाटक “सखी सहेली-1090 है अलबेली“ का मंचन किया गया। नाटक के द्धारा समाज में महिलाओं के साथ हो रही हिंसा व छेडछाड एवं उसे रोकने के लिये वूमेन पावर लाइन 1090 किस तरह कार्य कर रही है बताया गया।

कार्यक्रम में हेल्प यू एजुकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट के द्धारा अब तक किये गये धमार्थ, सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यों पर श्री महेन्द्र भीष्म ने प्रकाश डाला। कार्यक्रम के अंत में श्री हर्ष वर्धन अग्रवाल, फाउन्डर ट्रस्टी, हेल्प यू एजुकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट ने सभी लोागों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का सफल संचालन श्री नवल शुक्ला ने किया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India