कैनबरा में आया कैरेबियाई तूफ़ान

कैनबरा में आया कैरेबियाई तूफ़ान

क्रिस गेल ने 138 गेंदों में लगाया विश्व कप का पहला दोहरा शतक 

कैनबरा : वेस्टइंडीज के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल ने आज यहां जिम्बाब्वे के खिलाफ 215 रन की तूफानी पारी खेलकर कई नये रिकार्ड बनाये। वह एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में दोहरा शतक जड़ने वाले चौथे और विश्व कप में यह कारनामा करने वाले पहले बल्लेबाज बने।

इसके साथ ही उन्होंने मलरेन सैमुअल्स के साथ मिलकर वनडे में किसी भी विकेट के लिये सबसे बड़ी साझेदारी का 16 साल पुराना रिकार्ड भी तोड़ा। खराब फार्म के कारण आलोचकों के निशाने पर रहे गेल ने जिम्बाब्वे के गेंदबाजों का कचूमर बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने अपनी 147 गेंद की पारी में दस चौके और 16 छक्के लगाये। वह वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले पहले गैर भारतीय बल्लेबाज हैं। गेल से पहले भारत के सचिन तेंदुलकर (नाबाद 200), वीरेंद्र सहवाग (219) और रोहित शर्मा (209 और 264 रन) ने वनडे में दोहरे शतक लगाये थे। विश्व कप में यह पहला अवसर है जबकि किसी बल्लेबाज ने दोहरा शतक लगाया। इससे पहले इस टूर्नामेंट में एक पारी में सर्वाधिक स्कोर का रिकार्ड दक्षिण अफ्रीका के गैरी कर्स्टन के नाम पर था जिन्होंने यूएई के खिलाफ 1996 में रावलपिंडी में नाबाद 188 रन बनाये थे।

गेल ने अपनी पारी में 16 छक्के लगाये और इस तरह के वनडे में एक पारी में सर्वाधिक छक्कों के पिछले रिकार्ड की बराबरी की। रोहित शर्मा ने 2013 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी 209 रन की पारी के दौरान 16 छक्के लगाये थे। दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स ने जनवरी 2015 में जोहानिसबर्ग में वेस्टइंडीज के खिलाफ 16 छक्के जड़े थे। विश्व कप में इससे पहले एक पारी में सबसे अधिक छक्के जड़ने का रिकार्ड डेविड मिलर के नाम पर था जो उन्होंने कुछ दिन पहले जिम्बाब्वे के खिलाफ ही हैमिल्टन में बनाया था। इसके साथ ही गेल दुनिया के पहले ऐसे बल्लेबाज बन गये हैं जिन्होंने टेस्ट मैचों में तिहरा शतक, वनडे में दोहरा शतक और टी20 में शतक बनाया है।

गेल ने सैमुअल्स (नाबाद 133) के साथ दूसरे विकेट के लिये 372 रन की साझेदारी की जो वनडे में किसी भी विकेट के लिये साझेदारी का नया रिकार्ड है। इससे पहले का रिकार्ड भारत के तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ के नाम पर था जिन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ 1999 में हैदराबाद में दूसरे विकेट के लिये ही 331 रन जोड़े थे। विश्व कप में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकार्ड इससे पहले सौरव गांगुली और द्रविड़ के नाम पर था। उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 1999 में टांटन में दूसरे विकेट के लिये 318 रन की साझेदारी की थी। गेल अपनी पारी के दौरान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 400 छक्के जड़ने वाले दूसरे बल्लेबाज भी बने। अपना 414वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे गेल ने टेस्ट मैचों में 98, एकदिवसीय मैचों में 229 और टी20 अंतरराष्ट्रीय में 87 छक्के लगाये हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक 447 छक्के लगाने का रिकार्ड पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी के नाम पर है। उनके बाद गेल (414), न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम (356), श्रीलंका के सनथ जयसूर्या (352), भारत के महेंद्र सिंह धोनी (280), तेंदुलकर (264), आस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट (262) और दक्षिण अफ्रीका के जाक कैलिस (254 छक्के) का नंबर आता है। गेल ने इसके साथ ही एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 9000 रन भी पूरे किये। वह ब्रायन लारा (10,405 रन) के बाद वनडे में 9000 से अधिक रन बनाने वाले दूसरे कैरेबियाई बल्लेबाज बन गए हैं।