पाकिस्तान की एक और शर्मनाक हार

पाकिस्तान की एक और शर्मनाक हार

वेस्टइंडीज ने 150 के अंतर से हराया 

क्राइस्टचर्च : मध्य और निचले क्रम के बल्लेबाजों के उपयोगी योगदान तथा आंद्रे रसेल के ऑलराउंड खेल से वेस्टइंडीज ने आज यहां पाकिस्तान को 150 रन से करारी शिकस्त देकर विश्व कप क्रिकेट में शानदार वापसी की।

पहले मैच में आयरलैंड से हारने वाले वेस्टइंडीज ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर छह विकेट पर 310 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। मध्यक्रम में दिनेश रामदीन (51) और लेंडल सिमन्स (50) ने अर्धशतक जमाए जबकि डेरेन ब्रावो (49 रिटायर्ड हर्ट) और मलरेन सैमुअल्स (38) ने उपयोगी योगदान दिया।

निचले क्रम में डेरेन सैमी (28 गेंद पर 30 रन) और रसेल (13 गेंद पर नाबाद 42) ने तूफानी बल्लेबाजी की जिससे वेस्टइंडीज अंतिम दस ओवरों में 115 रन जोड़ने में सफल रहा। अपने पहले मैच में भारत से पराजित होने वाले पाकिस्तान के बल्लेबाज फिर से नहीं चल पाये और उसकी पूरी टीम 39 ओवरों में 160 रन पर ढेर हो गयी।

जेरोम टेलर (15 रन देकर तीन विकेट) ने पाकिस्तान के शीर्ष क्रम को बुरी तरह चरमरा दिया जिससे स्कोर चार विकेट पर एक रन हो गया जो एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी भी टीम की सबसे खराब शुरुआत है।

रसेल (33 रन देकर तीन विकेट) और स्पिनर सुलेमान बेन (39 रन देकर दो विकेट) ने मध्य और निचले क्रम के बल्लेबाजों को आउट करने में अहम भूमिका निभायी। रसेल को मैन आफ द मैच चुना गया। पाकिस्तान का स्कोर जब 25 रन था तब तक उसकी आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी।

शोएब मकसूद (50) और उमर अकमल (59) ने छठे विकेट के लिये 80 रन जोड़े। शाहिद अफरीदी (28) दोहरे अंक में पहुंचने वाले तीसरे और आखिरी बल्लेबाज थे। वेस्टइंडीज ने विश्व कप 2015 में अपना खाता खोला जबकि लगातार दूसरे मैच में करारी हार से पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ गयी हैं।

टेलर ने इनमें पहले तीन बल्लेबाजों को खाता भी नहीं खोलने दिया। उन्होंने अपने पहले ओवर में जमशेद और यूनिस को आउट करके वेस्टइंडीज को स्वर्णिम शुरूआत दिलायी। कप्तान जैसन होल्डर ने चौथे ओवर की पहली गेंद पर शहजाद को पवेलियन भेजा। क्रीज पर लंबा समय बिताने के लिये मशहूर कप्तान मिसबाह उल हक (सात) भी टिककर नहीं खेल पाये। रसेल ने उन्हें अपना पहला शिकार बनाया।

मकसूद और अकमल ने विकेटों के पतन पर रोक लगायी लेकिन बड़े स्कोर का दबाव उन पर साफ दिख रहा था। बेन ने डेरेन सैमी की गेंद पर मकसूद का दर्शनीय कैच लेकर यह साझेदारी तोड़ी। इसके बाद रसेल और बेन को पुछल्ले बल्लेबाजों को समेटने में कोई परेशानी नहीं हुई। इससे पहले वेस्टइंडीज की शुरूआत भी अच्छी नहीं रही और आठवें ओवर तक उसका स्कोर दो विकेट पर 28 रन था। लेकिन इसके बाद पाकिस्तान ने लचर क्षेत्ररक्षण के कारण वेस्टइंडीज को वापसी का मौका दिया।

वेस्टइंडीज ने बीच के ओवरों में विकेट बचाये रखने के साथ रन भी बनाये। आखिरी दस ओवरों में तो उसके बल्लेबाज गेंदबाजों पर हावी हो गये जिससे टीम 300 रन के पार पहुंचने में सफल रही। आखिरी पांच ओवरों में ही 79 रन बने। सैमी और रसेल ने इस बीच पाकिस्तानी गेंदबाजी की धज्जियां उड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।  

क्रिस गेल फिर से नाकाम रहे और 14 गेंद का सामना करने के बावजूद चार रन ही बना पाये। दूसरे सलामी बल्लेबाज ड्वेन स्मिथ ने 23 रन का योगदान दिया। डेरेन ब्रावो बायें पांव की हैमस्ट्रिंग में खिंचाव आने के कारण रिटायर्ड हर्ट हुए। उन्होंने इससे पहले 78 गेंदों पर 49 रन बनाये।

विकेटकीपर रामदीन ने बीच के ओवरों में दो उपयोगी साझेदारियां निभायी। उन्होंने ब्रावो के साथ 49 रन और पिछले मैच के शतकवीर सिमन्स के साथ 42 रन जोड़े। उन्होंने 40वें ओवर में आउट होने से पहले 43 गेंद की अपनी पारी में सात चौके लगाये। पाकिस्तान वेस्टइंडीज की पारी के दौरान जूझता रहा। उसने चार कैच टपकाये। इनमें से दो कैच तो अफरीदी ने छोड़े।

नासिर जमशेद ने पारी के पांचवें ओवर में स्मिथ का कैच छोड़ा। यह बल्लेबाज तब 11 रन पर था। अफरीदी ने इसके बाद 20वें ओवर में सैमुअल्स को जीवनदान दिया। वह तब 27 रन पर खेल रहे थे। इसके नौ ओवर बाद अफरीदी ने ब्रावो का कैच भी टपकाया। मोहम्मद इरफान ने 46वें ओवर में सिमन्स का कैच छोड़ा।