मोदी से मिले केजरी, दिल्‍ली को पूर्ण राज्‍य के दर्जे की रखी मांग

मोदी से मिले केजरी, दिल्‍ली को पूर्ण राज्‍य के दर्जे की रखी मांग

नई दिल्ली : दिल्ली के मनोनीत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और राष्ट्रीय राजधानी को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने समेत दिल्ली से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर उनके साथ बातचीत की। केजरीवाल आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया के साथ सुबह लगभग साढ़े दस बजे प्रधानमंत्री आवास पर पहुंचे और उनकी यह मुलाकात लगभग 15 मिनट तक चली।

मोदी ने केजरीवाल को फूलों का गुलदस्‍ता देकर उनका स्‍वागत किया। वहीं, केजरीवाल ने इस दौरान प्रधानमंत्री को 14 फरवरी को रामलीला मैदान में अपने शपथ ग्रहण समारोह में आने के लिए आमंत्रित किया। लेकिन मोदी ने शपथ ग्रहण समारोह में अपने व्‍यस्‍त कार्यक्रम की वजह से आने में असमर्थतता जताई। बताया गया कि पीएम 14 फरवरी को महाराष्‍ट्र जाएंगे। वे शनिवार सुबह पहले से तय एक कार्यक्रम में शामिल होने बारामती जाएंगे। केजरीवाल ने पीएम से यह भी कहा कि यदि आप शपथ ग्रहण में आते तो हमें बेहद खुशी होती। इस दौरान पीएम मोदी ने केजरीवाल और सिसोदिया के साथ चाय भी पी।

इस मुलाकात के बाद सिसोदिया ने संवाददाताओं को बताया कि अरविंद ने प्रधानमंत्री को बताया कि केंद्र और राज्य दोनों की ही सरकारों के पास भारी बहुमत है, इसलिए दिल्ली को एक बेहतर शहर बनाने की दिशा में दोनों के लिए मिलकर काम करने का यह एक सुनहरा अवसर है। उन्होंने यह भी कहा कि ‘आप’ प्रमुख ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने का मुद्दा भी प्रधानमंत्री के समक्ष उठाया। सिसोदिया ने कहा कि अरविंद ने प्रधानमंत्री के साथ दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने के बारे में भी बात की और प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर गौर करने का आश्वासन दिया है। केजरीवाल ने मोदी को 14 फरवरी को रामलीला मैदान में आयोजित होने वाले अपने शपथ-ग्रहण समारोह का निमंत्रण भी दिया है। प्रधानमंत्री ने इस पर अपनी असमर्थता जाहिर की क्योंकि वह उस दिन शहर से बाहर होंगे। सिसोदिया ने कहा कि दिल्‍ली और केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार है। ये दिल्‍ली के लिए विकास के मद्देनजर एक सुनहरा मौका है।

दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा के लिए संपन्न चुनावों में 67 सीटें अपने नाम कर ‘आप’ ने एकतरफा जीत हासिल की, जिसके बाद प्रधानमंत्री ने इस शानदार विजय के लिए केजरीवाल को बधाई दी और राष्ट्रीय राजधानी के विकास के लिए केंद्र से पूरा सहयोग देने का आश्वासन भी दिया था। गौर हो कि केजरीवाल ने बुधवार को केंद्रीय मंत्रियों एम वैंकेया नायडू और राजनाथ सिंह से अलग-अलग मुलाकातें की थीं और दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने एवं अनाधिकृत कालोनियों को नियमित किए जाने की बात रखी थी।