शाही इमाम के फतवे ने हराया: किरण बेदी

शाही इमाम के फतवे ने हराया: किरण बेदी

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनावों में भाजपा को मिली शर्मनाक हार का जिम्मेदार कहीं ना कहीं किरण बेदी को माना जा रहा है। वहीं दिल्ली चुनावों में भाजपा की सीएम पद की उम्मीदवार रहीं किरण बेदी ने अपनी हार का जिम्मेदार फतवा को बताया है। इसे लेकर बेदी ने चुनाव आयोग को चिट्ठी भी लिखी है। किरण बेदी का कहना है कि फतवा से मतदान पर असर पड़ता है और फतवा दिमाग पर असर डालता है। गौरतलब है कि दिल्ली में मतदान से एक दिन पहले शाही इमाम ने मुस्लिम मतदाताओं से अपील की थी कि वे आप को वोट दें।

बेदी ने कहा, "इन फतवा का असर पड़ता है। क्या चुनाव आयोग को आखिरी समय में ऎसे फतवे जारी करने की अनुमति देनी चाहिए। क्या ये लोकतंत्र के लिए अच्छा है।" साथ ही उन्होंने कहा कि, मुझे बताया गया है कि कृष्णा नगर के जिन इलाकों में फतवा जारी किया गया है, वहां मेरें वोटों में गिरावट आई है। वहीं कांग्रेस नेता जयप्रकाश अग्रवाल का किरण बेदी की हार पर कहना है कि ये उनकी अपनी नाकामी है। जब से उन्हें भाजपा का सीएम उम्मीदवार बनाया गया, तभी से भाजपा का पतन शुरू हो गया।

किरण बेदी दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम के आम आदमी पार्टी के समर्थन देने के फतवे को अपनी हार के लिए जिम्मेदार बताया है। गौरतलब है कि दिल्ली में मतदान से एक दिन पहले शाही इमाम ने आप को समर्थन देने की घोषणा की थी, लेकिन आप ने शाही इमाम का समर्थन लेने से इनकार कर दिया था। बेदी को विधानसभा चुनाव में भाजपा की सबसे सेफ सीट मानी जाने वाली कृष्णा नगर सीट पर हार मिली है। उन्हें आम आदमी पार्टी के एसके बग्गा ने करीब 2,700 वोटों से हराया। बग्गा ने मीडिया के सामने अपनी जीत का ऎलान किया और कहा कि वह कृष्णा नगर के स्थानीय उम्मीदवार थे, इसलिए जनता ने उन्हें चुना।