यह किरन बेदी को पार्टी में लाने वालों की हार है

यह किरन बेदी को पार्टी में लाने वालों की हार है

हमारी हालत तो कांग्रेस से भी बुरी है: कीर्ति आज़ाद 

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी की करारी हार के बाद बगावत का पहला सुर उठा है। पूर्व क्रिकेटर और सांसद कीर्ति आजाद ने किरन बेदी को पार्टी में लाने वालों को हार की वजह बताया है। आजाद ने कहा कि किरन बेदी की कोई गलती नहीं है। किरन बेदी को पार्टी में लाने वालों की गलती है।

आजाद ने इसके साथ ही बीजेपी की हार की वजह निगेटिव कैंपेनिंग को ठहराया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के विकास की बात जनता तक पहुंचाने की जगह बीजेपी नेता फालतू की बयानबाजी में व्यस्त रहे। इसके अलावा उन्होंने कैंपेनिंग कमेटी को भी हार का जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि कैंपेनिंग करने वाले नेताओं पर कार्रवाई करनी चाहिए।

आजाद ने बीजेपी नेताओं को ताना मारते हुए कहा कि पिछले चुनाव में कांग्रेस के पास कम से कम 8 सीटें थी, हमारे पास तो पंजा भी नहीं रह गया। आज कांग्रेस से भी बुरी हालत हमारी है। उन्होंने आम आदमी पार्टी को जीत की शुभकामनाएं दी। साथ ही खबरदार भी किया कि अगर आप ने काम नहीं किए, तो जनता उन्हें एक वोट नहीं देगी।

कीर्ति ने बाहरी नेताओं को बीजेपी में लाकर टिकट देने को भी गलत ठहराया। उन्होंने कहा कि कल तक जो लोग पार्टी को गालियां देते थे, आज वो पार्टी में घुस आए। बीजेपी पुराने कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज करने की वजह से हारी।

आजाद ने पार्टी नेताओं पर दिल्ली को न समझ पाने का भी आरोप लगाया। आजाद ने कहा कि पिछली बार आम आदमी पार्टी ने 11 पूर्वांचलियों को टिकट दिया। और 8 जीते। इस बार उन्होंने जितनों को टिकट दिया। सभी लोग जीते। बीजेपी आज भी 2003 के आंकड़ों पर जी रही है। उन लोगों ने ऑफिसों में बैठकर रणनीति बनाई, जिसकी वजह से बीजेपी की दुर्गति हुई।