प्रदेश में संवेदनहीन सरकार : डा0 मनोज मिश्र

प्रदेश में संवेदनहीन सरकार : डा0 मनोज मिश्र

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश में हो रहे ताबड़तोड़ अपराधों के लिए सपा सरकार को जबर्दश्त तरीके से घेरा। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डा0 मनोज मिश्र ने आरोप लगाया कि सपा सरकार में राजधानी लखनऊ में ही अपराध और अपराधियों का ताण्डव हो रहा है। पुलिस की संवेदन हीनता की पराकाष्ठा है कि  मृतक के पिता से ही रिपोर्ट के नाम पर घूस ले ली। 100 नवम्बर सेवा की सवेंदनहीनता की बदनुमा तस्वीर भी प्रदेश की जनता को दिखलाई पड़ी।

प्रवक्ता डा0 मिश्र ने प्रदेश की ध्वस्त कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सपा सरकार को जमकर लताड़ लगाई। लखनऊ में ही गौरी और हर्ष की हत्या के मामले में प्रदेश पुलिस की सम्वेदनहीनता ने जन मानस को हिला दिया। बरेली में 5 साल बच्ची के साथ बलात्कार के मामलो में एस.एस.पी. की संवेदनहीनता से जनता हैरान है। शिखर हत्याकाण्ड में सी.वी.सी.आई.डी. जांच भी अपराधियों को बचाने का प्रयास हैं। जनता का पुलिस और सरकार पर विश्वास खत्म हो गया। मृतक हर्ष के पिता से घूस लेकर रिपोर्ट दर्ज करने वाला मुंशी आज तक अपनी कुर्सी पर कायम है। 100 नम्बर की निष्क्रियता की जांच के लिए बहानेबाजी हो रही है। अभी तक किसी जिम्मेदार पुलिस वाले पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है। अपराधी खुलेआम अपराध कर रहे है और पुलिस इनकी संरक्षण बनकर उभरती दिख रही हैं।

प्रवक्ता डा0 मिश्र ने सपा सरकार से तत्काल मृतक के पिता से घूस लेने वाले मुंशी को वर्खास्त करने की मांग की। 100 नम्बर सेवा की सम्वेदन हीनता के लिए जिम्मेदार लोगों पर भी तत्काल कार्यवाही हो। उन्होंने मांग की सपा सरकार में पूरा उत्तर प्रदेश अपराधियों के खौप से थर्रा रहा है। उन्होंने पूछा कि आखिर प्रदेश में कानून का राज कौन कायम करेगा ? जब राजधानी में कानून-व्यवस्था ध्वस्त है तो पूरे प्रदेश का अंदाजा लगाया जा सकता हैं ? ध्वस्त कानून व्यवस्था की कीमत प्रदेश की सपा सरकार को हर हालत में चुकानी होगी।

Lucknow, Uttar Pradesh, India