गांधी जी आज होते तो बड़े आहत होते: ओबामा

गांधी जी आज होते तो बड़े आहत होते: ओबामा

भारत में पिछले कुछ सालों में बढ़ी है धार्मिक असहिष्णुता

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि भारत में पिछले कुछ सालों में धार्मिक असहिष्णुता बढ़ी है। उन्होंने कहा कि अगर आज गांधी जी होते, तो आहत होते।

ओबामा ने अपने भारत दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि भारत एक सुंदर देश है, लेकिन हाल के वर्षों में वहां सभी धर्म के लोगों पर एक-दूसरे के हमले बढ़े हैं। हाल ही में भारत दौरे पर आए बराक ओबामा ने टाउनहॉल में कहा था कि भारत तब तक तरक्की करेगा, जब तक धर्म के आधार पर नहीं बंटेगा।ओबामा का बयान ऐसे वक्त में आया है, जब व्हाइट हाउस ने धार्मिक सहिष्णुता के मुद्दे पर नई दिल्ली में भारत में दिए गए उनके सार्वजनिक भाषण पर बुधवार को सफाई दी थी। ओबामा के नई दिल्ली के बयान को बीजेपी पर अप्रत्यक्ष हमला माना जा रहा था।

हाई-प्रोफाइल 'नेशनल प्रेयर ब्रेकफास्ट' के दौरान अपनी टिप्पणी में ओबामा ने कहा, 'मिशेल और मैं भारत से वापस लौटे हैं...अतुलनीय, सुंदर देश, भव्य विविधताओं से भरा हुआ... लेकिन वहीं पिछले कुछ वर्षों में कई मौकों पर दूसरे धर्म के अन्य लोगों ने सभी धर्मों के लोगों को निशाना बनाया है, ऐसा सिर्फ अपनी विरासत और आस्था के कारण हुआ है। इस असहिष्णु व्यवहार ने देश को उदार बनाने में मदद करने वाले गांधीजी को स्तब्ध कर दिया होता।'

हाल ही में भारत से लौटे अमेरिकी राष्ट्रपति पिछले कुछ वर्षों में देश के विभिन्न धर्मों के लोगों द्वारा एक-दूसरे पर किए गए हमलों का हवाला दे रहे थे।