रांची रेज़ ने यूपी विज़ार्ड्स को हराया

रांची रेज़ ने यूपी विज़ार्ड्स को हराया

(तौक़ीर सिद्दीक़ी)

लखनऊ: मैन ऑफ़ दि मैच गोलकीपर श्रीजेश की शानदार गोलकीपिंग के बावजूद हॉकी इंडिया लीग  के 14 वें मुकाबले में उत्तर प्रदेश विजार्डस को अपने घरेलू मैदान पर रांची रेज के हाथों 2-0 की पराजय का सामना करना पड़ा। 

रांची रेज विजार्डस के बीच मैच में जबर्दस्त हाकी देखने को मिली लेकिन धोनी की टीम के ज़बरदस्त रक्षण के आगे सितारों से सजी धोनी के चेले रैना के मालिकाना हक़ वाली  उत्तर प्रदेश की टीम की एक न चली। दूसरी ओर रांची ने मिले मौक़ों का फायदा उठाया और दो गोल ठोंककर टीम को अंक तालिका में यूपी विज़ार्ड्स के बराबर ला खड़ा किया । यह तो श्रीजेश का कमाल था वर्ना यह गोल अंतर और बड़ा हो सकता था।  श्रीजेश ने रेज के पांच शर्तिया गोल प्रयासों को नाकाम किया। 

मैच की शुरुआत से ही दोनों टीमों ने एक-दूसरे पर हावी होने की कोशिश की।  रेज को दूसरे मिनट में पहला पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन जैक्सन एश्ली के शाट को गोलकीपर श्रीजेश ने शानदार बचाव करके नाकाम कर दिया।  पहले क्वार्टर के 11वें मिनट में यूपी को पहला पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन ड्रैग फ्लिकरॅ वी. रघुनाथ पास को सम्भाल नहीं सके और विजार्डस ने यह मौका गंवा दिया। 

मैच के 13वें मिनट में रांची रेज के ट्रेंट मिटन ने विजार्डस के रक्षकों की चूक का भरपूर फायदा उठाते हुए दनदनाता हुआ गोल दागकर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। पहले क्वार्टर में रांची की टीम 1-0 से आगे रही। 

दूसरे क्वार्टर में विजार्डस ने तेज़ शुरुआत की।  पहले ही मिनट में विजार्डस के दे वूग बॉब को गोल करने का सुनहरा अवसर मिला लेकिन उनका शाट गोल में नहीं तब्दील हो सका सका।  रेज ने भी जवाबी हमला किया, इस क्वार्टर के चौथे मिनट में रेज के निक विल्सन खाली पडे विजाडर्स के गोलपोस्ट की तरफ बढ़े लेकिन श्रीजेश ने उनके वार को नाकाम कर दिया।  

पिछले साल एशियाई खेलों में हाकी फाइनल में भारत की जीत के हीरो रहे श्रीजेश ने दूसरे क्वार्टर के सातवें मिनट में जबर्दस्त एकाग्रता का परिचय देते हुए रेज के खिलाड़ियों के दो लगातार प्रहारों को नाकाम किया।  नौवें मिनट में मैकेलसी शी ने बेहतरीन कोशिश करके मैदानी गोल दागने की केाशिश की लेकिन नाकाम रहे।  12वें मिनट में रेज के प्रभदीप सिंह के शाट को श्रीजेश ने रोक दिया।  अगले ही मिनट में बैरी मिडलटन ने भी विजार्डस पर हमला किया लेकिन उसे भी श्रीजेश ने नाकाम कर दिया।  यह संघषर्पूर्ण क्वार्टर गोलरहित रहा। 

तीसरे क्वार्टर में भी विजार्डस ने शुरुआती हमले किया।  इस क्वार्टर के सातवें मिनट में रमनदीप सिंह ने अच्छा प्रहार किया लेकिन रेज के गोलकीपर लोवेल टाइलर ने उसे रोक लिया।  अगले ही मिनट में विजार्डस के कप्तान एडवड ओकेनडेन ने भी तेज शाट मारा लेकिन टाइलर ने उसे भी रोक लिया। 

इस क्वार्टर के 15वें और आखिरी मिनट में विजार्डस की रक्षापंक्ति की गफलत के कारण गोलकीपर श्रीजेश के आगे बढ़ आने का फायदा उठाते हुए रेज के मनदीप सिंह ने गोल दागकर अपनी टीम को 2-0 की बढ़त दिला दी।  इसी मिनट में रेज को अपना दूसरा पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन किन डैनियन बीले के पास पर आस्टिन स्मिथ के शाट को श्रीजेश ने रोक लिया। 

मैच के चौथे और आखिरी क्वार्टर में दोनों टीमों के बीच जबर्दस्त हाकी देखने को मिली।  विजार्डस ने मैच में लौटने की भरसक कोशिश की लेकिन रांची के मजबूत रक्षण के आगे उनके सभी प्रयास बेकार साबित हुए।  बीच-बीच में रेज ने भी पलटवार करके विजार्डस को लगातार आक्रमण की मुद्रा में नहीं रहने दिया।  आखिर में मुकाबला 2-0 से रांची रेज के नाम रहा। 

विजार्डस की यह पांच मैचों में दूसरी हार है जबकि रेज ने इतने ही मैचों में अपनी दूसरी जीत हासिल की।  विजार्डस का अगला मुकाबला कल लखनऊ में ही जेपी पंजाब वारियर्स से होगा, जो जबर्दस्त फार्म में है और अब तक एक भी मैच नहीं हारी है ।