राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग न लेने से बाई सायना से परेशान

राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग न लेने से बाई सायना से परेशान

विजयवाड़ा। भारतीय बैडमिंटन महासंघ (बाई) ने स्टार खिलाड़ी सायना नेहवाल के राष्ट्रीय सीनियर चैम्पियनशिप में भाग नहीं लेने के कारण न्यायालय का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है। बाई के महासचिव पुन्नैया चौधरी ने कहा, सायना पिछले चार वर्षो से किसी राष्ट्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले रही हैं, जबकि यह उनकी जिम्मेदारी बनती है कि ऐसी प्रतियोगिताओं में भाग लेकर अगली पीढ़ी को प्रोत्साहित करें। 

चौधरी ने कहा, सायना और पी. कश्यप जैसे शीर्ष खिलाडियों की यह आदत बन गई है कि वह राष्ट्रीय चैम्पियनशिप जैसे आयोजनों से किनारा कर लेते हैं और फिर ईमेल का भी जवाब नहीं देते। हम इस मसले को कोर्ट तक ले जाएंगे जिससे भविष्य में खिलाड़ी ऐसे फैसलों से बचें। 

चौधरी ने कहा, बड़े घरेलू टूर्नामेंटों में हिस्सा नहीं लेना बाई के नियमों का भी उल्लंघन है और हम इस मुद्दे को केन्द्र सरकार के संज्ञान में भी लाएंगे। बाई के महासचिव के अनुसार शीर्ष खिलाडियों के भाग नहीं लेने से आयोजकों को 30 से 40 लाख रूपए तक का नुकसान उठाना पड़ा है। किसी अन्य खेल में इस तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है।

गौरतलब है कि सायना ने कुछ दिनों पहले कहा था कि वह केरल में राष्ट्रीय खेलों और विजयवाड़ा में राष्ट्रीय सीनियर बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा नहीं लेंगी। विश्व की चौथे नम्बर की खिलाड़ी सायना ने कहा, मैं एक इंसान हूं कोई मशीन नहीं। मैं एक वर्ष में करीब 12 से 15 टूर्नामेंट खेलती हूं और मुझे अपने शरीर की क्षमता का भी ख्याल रखना पड़ता है। मैं प्राथमिकता के अनुसार टूर्नामेंट में खेलने का फैसला करती हूं। मेरा पूरा ध्यान अगस्त में होने वाली विश्व चैम्पियनशिप पर है और इसके लिए मैं खुद को फिट रखना चाहती हूं।