किरण बेदी के दफ्तर पर वकीलों का हमला

किरण बेदी के दफ्तर पर वकीलों का हमला

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की सीएम पद की उम्मीदवार किरण बेदी के दफ्तर पर हजारों ने वकीलों ने सोमवार को हमला कर दिया। वक ीलों  ने बेदी के दफ्तर में घुसकर तोड़फोड़ की और भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की, जिसमें कई भाजपा उम्मीदवार घायल हो गए। बेदी ने भी इस घटना के बारे में ट ्वीट कर जानकारी दी। बेदी ने ट्वीट किया, "कृष्णा नगर में स्थित मेरे भाजपा के दफ्तर पर कुछ लोगों ने हमला किया है। कुछ लोगों के घायल होने की सूचना है। अपनी रैली को छोड़ कर मैं दफ्तर पर लौट रही हूं।"

घटना सोमवार शाम को करीब पांच बजे की है। भाजपा का कहना है कि यह वकीलों ने हमला किया है। साथ ही बताया कि करीब हजार से ज्यादा वकील रैली करते हुए द फ्तर पहुंचे और उसके बाद उन्होंने तोड़फोड़ शुरू कर दी। इसके साथ ही दफ्तर के बाहर खड़ी कई गाडियों को भी नुकसान पहुंचाया। बताया जा रहा है कि ये वकील कड़कड डूमा कोर्ट से निकले थे। जिसके बाद कृषणानगर पहुंचे थे। बेदी के दफ्तर पर हमले की भाजपा ने कड़ी निंदा की है। भाजपा नेता संबित पात्रा ने कहा कि लोकतंत्र में हिंसा की कोई जगह नहीं है। 

सूत्रों का कहना है कि वकीलों की किरण बेदी से नाराजगी का मुद्दा 18 साल पुराना है। बेदी जब साल 1988 में नोर्थ दिल्ली में डीसीपी थीं तो एक वकील हथकड़ी लगाने के लेकर विवाद हो गया था। जिसके बाद बेदी ने वकीलों पर लाठीचार्ज करवाने का आरोप लगाया गया था। वकीलों के प्रद्शन के बढ़ने के बाद पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया था।

India