ओबामा ने नहीं किया परम्परा का पालन

ओबामा ने नहीं किया परम्परा का पालन

अपनी स्पेशल कार से ही राजपथ पर ली एंट्री

नई दिल्ली। अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा पर देश की पुरानी परम्पराओं का टूटना गणतंत्र दिवस पर भी जारी रहा। इस बार ओबामा ने देश की पुरानी परम्परा तोड़ते हुए राजपथ पर एंट्री ली।

उल्लेखनीय है कि देश के गणतंत्र दिवस पर अमूमन विशेष अतिथि भारत के राष्ट्रपति के उनके आधिकारिक वाहन में राजपथ के सला मी मंच तक आते हैं, लेकिन ओबामा ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की कार में साथ बैठक मर आने के बजाय अपनी स्पेशल कार "बीस्ट" में आए। 

बताया जाता है कि पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी की हत्या एक खुली लिंकन कां टीनेंटल कार में हो गई थी, तभी से अमरीकी राष्ट्रपति दुनिया के किसी कोने में जाएं, अपनी ही कार में सवारी करते हैं। 

ओबामा की बीस्ट कार पर आठ इंच मोटा बख्तर लगा है, जबकि इसकी पांच इंच मोटी बुलेटप्रूफ खिड़कियां रासायनिक हमले समेत हर तरह के खतरों से महफूज रखती हैं। बीस्ट के दरवाजे बोइंग 757 के दरवाजों के बराबर वजन वाले हैं।

हालांकि 2012 से भारतीय राष्ट्रपति भी बख्तरबंद काली मर्सडीज बेंज एस 600 (डब्ल्यू221) पुलमैन गार्ड में सवार होकर चलते हैं। इसे राइफलों की गोलियां, बमों के छर्रे और अन्य विस्फोटक भेद नहीं सकते।

India