हिन्दू विधवा ने 10 मुसलमानों की बचाई दंगाइयों से जान

हिन्दू विधवा ने 10 मुसलमानों की बचाई दंगाइयों से जान

शैल देवी को सीएम जीतन मांझी ने 51,000 रुपये का इनाम दिया

मुजफ्फरपुर: बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के अजीजपुर में दो समुदायों के बीच भड़की हिंसा के दौरान एक हिन्दू महिला शैल देवी ने 10 मुस्लिमों को अपने घर में छिपाए रखकर उनकी जान बचाई।

मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने इस सराहनीय काम के लिए शैल देवी को 51,000 रुपये का चेक प्रदान कर उन्हें सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने शैल देवी की दो बेटियों को भी मुख्यमंत्री राहत कोष से 20-20 हजार रुपये देने की घोषणा की। मांझी ने उपस्थित अधिकारियों से शैल देवी को इंदिरा आवास योजना के तहत पक्का मकान तथा वृद्धावस्था पेंशन योजना का लाभ देने का भी निर्देश दिया।

गौरतलब है कि अजीजपुर गांव में रविवार को अपहृत एक युवक का शव मिलने के बाद भड़की हिंसा में चार लोगों की मौत हो गई थी। कई घर आग के हवाले कर दिए गए तथा तोड़फोड़ की गई थी।

हिंसा भड़कने के बाद लोग एक-दूसरे की जान लेने पर उतारू थे, लेकिन उस समय गांव के ही स्वर्गीय जगलाल सहनी की पत्नी शैल देवी ने दूसरे संप्रदाय के करीब 10 लोगों को अपनी झोपड़ी में छिपाकर उनकी जान बचाई। हिंसक भीड़ उनके दरवाजे पर भी पहुंची, परंतु शैल ने सबको दरवाजे से ही लौटा दिया। जिन लोगों की शैल ने जान बचाई है, वे आज शैल को फरिश्ता से कम नहीं मानते।