केजरीवाल से डिबेट माकन को स्वीकार, किरण का इंकार

केजरीवाल से डिबेट माकन को स्वीकार, किरण का इंकार

नई दिल्ली : दिल्ली में भाजपा द्वारा मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार बनाए जाने के एक दिन बाद ‘आप’ प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने किरण बेदी को सार्वजनिक बहस की चुनौती दी । बेदी ने इसका जवाब देते हुए कहा कि वह उनके साथ ‘सदन के भीतर’ बहस करेंगी।

आप नेता ने कहा, ‘ लोकतंत्र के लिए यह अच्छी पहल होगी यदि हमारे बीच विभिन्न मुद्दों पर बहस हो । लोग धर्म और जाति के नाम पर वोट देते हैं....वे मुद्दों के बारे में जागरूक नहीं हैं । करीब एक दो घंटे की बहस ठोस मुद्दों पर होनी चाहिए।’ केजरीवाल की चुनौती का जवाब देते हुए बेदी ने कहा कि आप प्रमुख ‘केवल बहस’ में यकीन रखते हैं जबकि उनका ध्यान सेवा करने पर है और वह ‘सदन के भीतर’ बहस करेंगी।

पूर्व आईपीएस अधिकारी ने कहा, ‘ अरविंद केवल बहस में यकीन करते हैं जबकि मैं काम करने में यकीन करती हूं । मैं उनके साथ सदन के भीतर बहस करूंगी।’’ सोशल मीडिया पर अपनी सक्रिय भूमिका के लिए जाने जाने वाले केजरीवाल ने बेदी से यह अपील भी की कि वह माइक्रोब्लागिंग साइट ट्विटर पर उन्हें ‘अनब्लॉक’ करें ।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘किरण बेदीजी किरणजी , मैं आपको ट्विटर पर फालो करता रहा हूं । अब आपने मुझे ट्विटर पर ब्लॉक कर दिया है । कृपया मुझे अनब्लॉक कर दें ।’ केजरीवाल के ट्विटर एकाउंट को ‘गंदा’ करार देते हुए बेदी ने केजरीवाल पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्होंने उनको सालभर से भी पहले ब्लॉक किया था क्योंकि वह ‘नकारात्मकता फैला रहे थे।’

देर रात दिल्ली से भाजपा की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार घोषित की गयीं बेदी ने कहा, ‘ मैंने उन्हें करीब 15 महीने पहले ब्लॉक कर दिया था जब उन्होंने खुद को अराजकतावादी बताया था। वह नकारात्मकता फैला रहे थे । नहीं चाहती थी कि मेरे चार मिलियन फालोअर नकारात्मकता को देखें। यह एक प्रदूषण फैलाने वाला एकाउंट था।’ देश की पहली महिला आईपीएस अधिकारी रहीं 65 वर्षीय बेदी को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी संसदीय बोर्ड के साथ बैठक करने के बाद मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया है। घोषणा के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया में आप ने कहा कि बेदी आप के लिए कोई चुनौती नहीं हैं और भाजपा की पसंद का उसकी अपनी साख पर गलत असर पड़ेगा।

वरिष्ठ आप नेता सोमनाथ भारती ने कहा, ‘ भाजपा ने किरण बेदी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया है ताकि उन्हें बलि का बकरा बनाया जा सके क्योंकि भाजपा , आप की बढ़ती लोकप्रियता और उसके बढ़ते आधार के चलते अपनी जीत के प्रति विश्वस्त नहीं है ।’ बेदी पूर्वी दिल्ली में कृष्णानगर सीट से चुनाव लड़ेंगी जिसे भाजपा का मजबूत गढ़ माना जाता है । संसदीय बोर्ड की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह , वित्त मंत्री अरूण जेटली , विदेश मंत्री सुषमा स्वराज तथा अन्य कई नेताओं ने भाग लिया।

भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली में किरण बेदी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया है।दिल्ली के आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सोमवार को भाजपा की अहम बैठक के बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने ये घोषणा की। भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी किरण बेदी कुछ दिन पहले ही भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुई हैं।  

इस बीच कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा कि वह दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले प्रतिद्वन्द्वी राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ व्यवस्थित चर्चा करने के लिए तैयार हैं। आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल की ओर से भाजपा की किरण बेदी को सार्वजनिक चर्चा के लिए चुनौती देने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए माकन ने कहा, ‘यह स्वस्थ परंपरा होगी। मैं समझता हूं कि आपसी सहमति के आधार पर स्वीकार्य टीवी चैनल या एजेंसी और स्वीकार्य एंकर के संयोजन में व्यवस्थित चर्चा होनी चाहिए।’ कांग्रेस पार्टी के चुनाव अभियान समिति के प्रमुख माकन ने कहा कि चर्चा से विभिन्न राजनीतिक दलों के नेतृत्व को जनता के कठिन सवालों के जवाब देने का मौका मिलेगा।

उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि नेतृत्व के लिए कठिन सवालों का जवाब देने और इंटरनेट और सोशल मीडिया के समय में जनता के समक्ष अपनी बात रखने का का यह सर्वश्रेष्ठ रास्ता होगा।’ ट्विट के जरिये केजरीवाल और किरण बेदी दोनों को ‘टैग’ करते हुए माकन ने कहा, ‘ मैं व्यवस्थित चर्चा के लिए तैयार हूं। दिल्ली की जनता को तुलनात्मक मूल्यांकन करने दें।’