मेरे सामने किरण हो या कोई और फ़र्क़ नहीं पड़ता : केजरीवाल

मेरे सामने किरण हो या कोई और फ़र्क़ नहीं पड़ता : केजरीवाल

नई दिल्ली: दिल्ली चुनावों में सबसे ज्यादा चर्चा में नई दिल्ली की सीट बनी हुई है। ये वो सीट है जहां से अरविंद केजरीवाल ने पिछले चुनावों में तब की सीएम शीला दीक्षित को हराया था और दिल्ली के सीएम बने। लेकिन इस बार केजरीवाल के सामने खुद किरण बेदी के चुनाव लड़ने की खबर के बीच आज केजरीवाल ने नई दिल्ली सीट पर पद यात्रा और डोर टू डोर जाकर खुद अपने लिए वोट मांगने शुरू कर दिए हैं।

 किरण बेदी पर पहली बार बोलते हुए आप संयोजक ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। केजरीवाल का कहना है कि अब जनता मन बना चुकी है। सबको चुनाव लड़ने का अधिकार है, वो लड़ें चुनाव, अच्छा है।

 किरण बेदी पर हमला करने से बचते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गाली-गलौच की राजनीति मैंने कभी नहीं की। मैंने एक-दूसरे के ऊपर टिप्पणी नहीं की। मुद्दे की राजनीति करता हूं। केजरीवाल का दावा है कि उन्होंने दिल्ली का पूरा ब्लू प्रिंट बना लिया है।

 बीजेपी नेता सतीश उपाध्याय के उन्हें दी गई पोस्टर चुनौती पर उन्होंने कहा कि हमारे पोस्टर से जगदीश मुखी जी बहुत खुश थे। निजी बातों में सबको कहा करते थे कि अच्छा है इन्होंने सीएम कैंडिडेट बना दिया वरना मेरी पार्टी तो टिकट ही नहीं दे रही। बता दें कि उपाध्याय ने केजरीवाल को मुखी की जगह अब किरण बेदी का पोस्टर लगाने की चुनौती दी है।