महंगाई ने खोला मुंह, पांच महीने में सबसे ज्यादा

महंगाई ने खोला मुंह, पांच महीने में सबसे ज्यादा

नई दिल्ली। आलू, फल और दूध के दामों में हुई बढ़ोत्तरी के कारण दिसंबर महीने में खाद्य महंगाई दर पांच महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई। दिसंबर में खाद्य महंगाई दर 5.20 प्रतिशत रही जो जुलाई 2014 के बाद सबसे ज्यादा है। नवंबर में थोक खाद्य महंगाई दर 0.63 प्रतिशत रही थी। पिछले साल जुलाई के बाद यह पहला मौका है जब इसमें बढ़त देखी गई है। 

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक ओवरऑल महंगाई दर में भी वृद्धि हुई है और यह 0.11 प्रतिशत पर पहुंच गई। यह मई 2014 के बाद पहली बार बढ़ी है। नवंबर 2014 में खाद्य महंगाई दर शून्य प्रतिशत रही थी जबकि दिसंबर 2013 में यह 6.40 प्रतिशत पर थी। आंकड़ों के अनुसार इस दौरान ईधन एवं ऊर्जा महंगाई दर में 7.82 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई जबकि विनिर्मित वस्तुओं की महंगाई दर 1.57 प्रतिशत बढ़ी।

खाद्य पदार्थो में फलों के दाम सबसे ज्यादा 13.76 प्रतिशत बढ़े। इसके अलावा आलू के दाम 13.76 प्रतिशत और दूध के दाम 9.72 प्रतिशत बढ़े। दालों के दाम 5.88 प्रतिशत तथा चावल के दाम 4.43 प्रतिशत चढ़ गए। प्याज के दाम सबसे ज्यादा 18.54 प्रतिशत, सब्जियों के दाम 4.78 प्रतिशत तथा गेहूं के दाम 2.46 प्रतिशत गिर गए। वित्त वर्ष 2013-14 में दिसंबर तक यह 5.58 प्रतिशत की दर से बढ़ी थी। साथ ही अक्टूबर 2014 की महंगाई दर के आंकड़ों को संशोधित करते हुए 1.77 प्रतिशत से घटाकर 1.66 प्रतिशत कर दिया गया है।