शिवसेना ने फिर दोहराया, गठबंधन एकतरफा नहीं होता

शिवसेना ने फिर दोहराया, गठबंधन एकतरफा नहीं होता

मुंबई: जेएनयू छात्र संघ नेता कन्हैया के बहाने शिवसेना ने एक बार फिर बीजेपी की दुखती रग पर हाथ रख दिया है। महाराष्ट्र के नासिक में कार्यकर्ता और पदाधिकारियों की बैठक को संबोधित करने आए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर दोहराया कि गठबंधन एकतरफा नहीं होता।

नासिक में कन्हैया के मुद्दे पर सवाल पूछे जाने पर उद्धव ने कहा, 'कन्हैया का जन्म कैसे हुआ, रोहित के बाद कन्हैया आया, उसका जन्मदाता कौन है? इस पर विचार करें। एक बात पर ध्यान दें, हमारा देश दुनिया में नौजवान है, युवक हमारे देश का भविष्य हैं। रोहित जो चला गया, हार्दिक जिसको आपने देशद्रोही ठहराया, अब कन्हैया को भी देशद्रोही कह दिया। राजनीति छोड़ें, देश के लिए काम करें, उनका मार्गदर्शन करें।'

शनिवार को जेएनयू छात्र संघ नेता कन्हैया कुमार ने मुंबई में बीजेपी-शिवसेना के खिलाफ हुंकार भरी, लेकिन रविवार को शिवसेना ने इस मुद्दे पर बीजेपी का दामन झटक, अपनी सहयोगी को नौजवानों के नाम पर नसीहत दे डाली।

शिवसेना पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे यहीं नहीं रुके, फिर साफ कर दिया कि गठबंधन में एकतरफा कुछ नहीं होता। उद्धव ने कहा 'पहले हमारा गठबंधन हिन्दुत्व पर हुआ था, हिन्दुत्व के लिए सत्ता या सत्ता के लिए हिन्दुत्व ये सवाल भी पैदा हो रहा है। गठबंधन की आवश्कता दोनों को है, ये एकतरफा नहीं है।'

महाराष्ट्र सरकार में सत्ता में शामिल होने के बावजूद बीजेपी-शिवसेना के रिश्तों की तल्खी जगजाहिर है, मुंबई महानगरपालिका चुनावों से पहले, लगता है ये तल्खी और परवान चढ़ेगी।