IPL9:  सनराइजर्स ने किया गुजरात लायंस का शिकार

IPL9: सनराइजर्स ने किया गुजरात लायंस का शिकार

राजकोट : भुवनेश्वर कुमार की अगुवाई में कसी हुई गेंदबाजी और कप्तान डेविड वार्नर के एक और उत्कृष्ट अर्धशतक की बदौलत सनराइजर्स हैदराबाद ने आज यहां गुजरात लायन्स के विजय अभियान पर रोक लगाकर आईपीएल नौ के मैच में 31 गेंद शेष रहते हुए दस विकेट से एकतरफा जीत दर्ज की. वार्नर ने 48 गेंदों पर नाबाद 74 रन बनाये जिसमें नौ चौके शामिल हैं. 

पहले तीन मैचों में रन बनाने के लिये जूझने वाले शिखर धवन ने भी फार्म में वापसी करके 41 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से नाबाद 53 रन की पारी खेली. लायन्स के बल्लेबाज जहां रन बनाने के लिये जूझ रहे थे वहीं इन दोनों ने आसानी से रन बटोरे और सनराइजर्स को 14.5 ओवर में बिना किसी नुकसान के 137 रन तक पहुंचाकर लगातार दूसरी जीत दिलायी. 

इससे पहले कप्तान सुरेश रैना की 75 रन की पारी की बदौलत गुजरात लायन्स ने आठ विकेट पर 135 रन ही बनाए।

रैना ने पहले ओवर में क्रीज पर कदम रखा और आखिरी ओवर में आउट होने से पहले तक एक छोर संभाले रखा। उन्होंने 51 गेंदें खेली तथा नौ चौके लगाए। उनके अलावा केवल ब्रैंडन मैकुलम (18) और रविंद्र जडेजा (14) ही दोहरे अंक में पहुंचे लेकिन कोई भी अपने कप्तान का लंबे समय तक साथ नहीं दे पाया।

लायन्स की तरफ से भुवनेश्वर कुमार सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 29 रन देकर चार विकेट लिए। इनमें से तीन विकेट उन्होंने पारी के आखिरी ओवर में हासिल किये। मुस्तफिजुर रहमान ने फिर से कसी हुई गेंदबाजी की और चार ओवर में 19 रन देकर एक विकेट लिया। उनके अलावा बिपुल शर्मा, दीपक हुडडा और बरिंदर सरण ने भी एक- एक विकेट हासिल किया।

भुवनेश्वर ने मैच की चौथी गेंद पर ही खतरनाक एरोन फिंच को आउट करके सनराइजर्स को बड़ी सफलता दिलायी। पहले तीनों मैच में अर्धशतक जड़ने वाले ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज फिंच इनस्विंगर को नहीं समझ पाए और बोल्ड हो गए।

रैना को पहले ओवर में ही क्रीज पर कदम रखना पड़ा और उन्होंने पहली गेंद पर चौका जड़कर खाता खोला और इससे टी20 क्रिकेट में 6000 रन भी पूरे किए। रैना यह उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के पांचवें बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले क्रिस गेल, ब्रैड हाज, मैकुलम और डेविड वार्नर इस मुकाम पर पहुंचे थे।

रैना ने इसके बाद भी रन बटोरते रहे लेकिन मैकुलम फिर से कुछ खास नहीं कर पाए। वह सरण पर चौका और लायन्स की पारी का एकमात्र छक्का जड़ने के बाद पवेलियन लौट गये। बांउड्री लंबी होने के कारण छक्का जड़ना आसान नहीं था और मैकुलम ने बिपुल पर स्लाग स्वीप करके सीमा रेखा के पास कैच थमाया। रैना और मैकुलम ने दूसरे विकेट के लिये 56 रन जोड़े।

सनराइजर्स के गेंदबाज इसके बाद बल्लेबाजों पर अंकुश लगाने में सफल रहे। लायन्स ने पहले 50 रन छह ओवर में पूरे कर दिये थे लेकिन इसके बाद अगले 50 रन के लिये उसे 8.3 ओवर खेलने पड़े। आखिरी दस ओवरों में गेंदबाज हावी रहे। इस बीच केवल तीन चौके पड़े और 61 रन बने और पांच विकेट गिरे।