ई-कृषि बाजार कृषि क्षेत्र में ‘अहम मोड़’: पीएम

ई-कृषि बाजार कृषि क्षेत्र में ‘अहम मोड़’: पीएम

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में किसानों की आय दोगुनी करने और खाद्यान्न के मामले में देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए खेती के उत्पादों के मूल्यवर्धन और वैज्ञानिक पद्धति के इस्तेमाल का समर्थन किया है।

मोदी ने यहां राष्ट्रीय कृषि बाजार पोर्टल (ईएनएएम) की शुरुआत की। आठ राज्यों की 21 मंडियों को जिंसों के ऑनलाईन कारोबार के लिए एकीकरण इससे जोड़ा गया है। इस अवसर मोदी ने कहा कि कृषि क्षेत्र को पूर्णता में देखने की आवश्यकता है ताकि किसानों को अधिकतम लाभ मुहैया कराया जा सके। प्रधानमंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र में ई-कृषि बाजार को एक ‘अहम मोड़’ बताया जो न केवल किसानों को बल्कि उपभोक्ताओं को भी लाभ पहुंचायेगा।

मोदी ने बगैर एपीएमसी कानून की व्यवस्था वाले राज्यों से कहा कि वे नया मंडी कानून लेकर आयें ताकि ऑनलाईन कारोबार किया जा सके। जिन राज्यों में एपीएमसी कानून है, उन राज्यों से प्रधानमंत्री ने अपील की कि वे कानून में जरूरी संशोधन करें ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ई.कृषि बाजार का लाभ किसानों को मिले।

मोदी ने कहा, कृषि क्षेत्र को सबसे अलग करके नहीं देखा जाना चाहिए। कृषि क्षेत्र को लेकर एक सम्पूर्ण दृष्टि होनी चाहिये और तभी किसानों के अधिकतम लाभ को सुनिश्चित किया जा सकता है। किसानों की आय बढ़ाने के लिए उन्होंने पानी, उर्वरक और बिजली के युक्तिसंगत इस्तेमाल पर जोर दिया और किसानों से मृदा स्वास्थ्य कार्ड का लाभ उठाने को कहा।