राहत कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं: मुख्यमंत्री

राहत कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं: मुख्यमंत्री

सूखा प्रभावित  किसानों को राहत के लिए 867.87 करोड़ रु0 की धनराशि मंज़ूर 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सूखे से प्रभावित जनपदों के किसानों को राहत प्रदान करने के लिए 867.87 करोड़ रुपए की धनराशि स्वीकृत की है। उनके निर्देश पर जनपदों में अग्निकाण्ड से प्रभावित परिवारों को राहत वितरित करने की दृष्टि से 11.25 करोड़ रुपए की धनराशि भी स्वीकृत की गई है।

यह जानकारी आज यहां देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि सूखा प्रभावित किसानों को राहत पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री द्वारा स्वीकृत इस धनराशि में जनपद इलाहाबाद के लिए 568 लाख रुपए, अम्बेडकरनगर 2574 लाख रुपए, बलरामपुर 591 लाख रुपए, बांदा 4842.33 लाख रुपए, चित्रकूट 2529.05 लाख रुपए, देवरिया 12034 लाख रुपए, फतेहपुर 1456 लाख रुपए, गोरखपुर 10158 लाख रुपए, हमीरपुर 375.41 लाख रुपए, झांसी 3255.42 लाख रुपए, कुशीनगर 2788 लाख रुपए, ललितपुर 10329.48 लाख रुपए, महोबा 4440.68 लाख रुपए, मऊ 5992 लाख रुपए, मिर्जापुर 2170.63 लाख रुपए, संतकबीरनगर 4233 लाख रुपए, सोनभद्र 4120 लाख रुपए तथा उन्नाव 14330 लाख रुपए सम्मिलित हैं।

मुख्यमंत्री ने सूखा प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे प्रभावित किसानों को शीघ्र राहत उपलब्ध कराएं, ताकि उन्हें सुविधा मिल सके। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। राज्य सरकार किसानों के हित में सभी कदम उठाएगी और संकट की घड़ी में उन्हें हर सम्भव सहायता मुहैया कराएगी।

इसके अतिरिक्त, मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में राज्य सरकार द्वारा विभिन्न जनपदों में अग्निकाण्ड से प्रभावित परिवारों को तत्काल राहत वितरित किए जाने के लिए प्रति जनपद 15 लाख रुपए की दर से कुल 11.25 करोड़ रुपए की धनराशि सभी जिलाधिकारियों को उपलब्ध कराई जा चुकी है।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार द्वारा सूखाग्रस्त किसानों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से कृषि फसलों की क्षति से प्रभावित 21 जनपदों को 137.66 करोड़ रुपए की धनराशि पूर्व में स्वीकृत की जा चुकी है। 

 

Lucknow, Uttar Pradesh, India