मोदी ने तो चाय वालों के लिए भी कुछ नहीं किया

मोदी ने तो चाय वालों के लिए भी कुछ नहीं किया

अम्बेडकर जयंती पर मोदी और राहुल पर जमकर बरसीं मायावती 

लखनऊ। अंबेडकर जयंती के मौके पर आज बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने विरोधियों पर जमकर हमला बोला। मायावती ने रोहित वेमुला की तुलना अंबेडकर से करने पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की भी जमकर खिंचाई की। साथ ही आय से अधिक संपत्ति मामले पर सीबीआई और तत्कालीन कांग्रेस सरकार को भी घेरा।

मायावती ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने CBI  के माध्यम से जानबूझ कर मेरा आय से अधिक संपत्ति का मामला लटकाए रखा। इसके बाद फिर कांग्रेस ने अपने एक कार्यकर्ता कमलेश वर्मा के माध्यम से जीते हुए केस के बावजूद फिर से कोर्ट में केस लगा दिया है। विरोधी पार्टी हमेशा मुझे कोर्ट कचहरी के मामलो में उलझा कर रखा है पर हम विचलित नहीं होंगे।

मायावती ने कहा, कांग्रेस के राहुल गांधी ने डॉक्टर अंबेडकर की तुलना रोहित वेमुला से की, उन्हें ज्ञान नहीं है। डॉक्टर अंबेडकर की तुलना मंडेला या कांसीराम से होनी चाहिए। रोहित की तुलना डॉक्टर अंबेडकर से होने से वैसा ही है जैसे नेहरु की तुलना राहुल गांधी से की जाए।

मायावती ने अंबेडकर जयंती पर आयोजित होने वाले सियासी कार्यक्रमों पर कहा कि पूरे देश में कांग्रेस और बीजेपी के लोग बाबा साहब के नाम पर तरह तरह के आयोजन करते हैं, ये सिर्फ दिखावा है। इस साल ये और ज्यादा देखने को मिल रहा है। कांग्रेस ने बाबा साहब को चुनाव में जीतने नहीं दिया था। बाबू जगजीवन राम को कांग्रेस ने इस्तेमाल किया। पीएम मोदी ने 5 अप्रैल को सासाराम में जाकर जयंती मनाने की बजाए बाबू जगजीवन राम  की जयंती नोएडा में मनाई। जबकि कांग्रेस के उपाध्यक्ष बाबा साहब की जयंती वोट के लिए मना रहे हैं।

देश के दलितों को जानवरों की संज्ञा देकर अपमानित करने वाली और आरक्षण का विरोध करने वाली बीजेपी वोट के लिए बाबा साहब की जयंती मनाने का नाटक कर रही है। जो स्मारक और संग्रहालय बनाने की बात बीजेपी कर रही है उस सब पर अकेला लखनऊ का अम्बेडकर स्मारक ही भारी है। इन वर्गों पर हो रहे उत्पीड़न को बीएसपी ही अकेली रोकती है।

केंद्र की भाजपा सरकार और पीएम मोदी वोट की लालच में तरह तरह की बात करते हैं। बीजेपी ने जिस केशव मौर्या को प्रदेश का अध्यक्ष बनाया है उस पर कई अपराधिक मामले दर्ज हैं। केशव मौर्या जातिवादी और सांप्रदायिक है, केशव मौर्या RSS और बीजेपी का बंधवा मजदूर। कल्याण सिंह ने भी ओबीसी के लिए कुछ नहीं किया, RSS के एजेंडे पूरे करने में कल्याण की सरकार गई थी।

उन्होंने कहा कि मोदी ने OBC वर्ग के लिए कुछ नही किया, चाय वालों के लिए मोदी ने कुछ नही किया, फ्री की चाय पीते हैं। आरक्षण पर मोदी ने छेड़छाड़ की तो आंदोलन करेंगे, केंद्र की सरकार के खिलाफ सड़कों पर खुद उतरूंगी।