रोहित, बटलर ने दिलाई मुंबई इंडियन्स को जीत

रोहित, बटलर ने दिलाई मुंबई इंडियन्स को जीत

कोलकाता नाइटराडर्स को 6 विकेट से हराया 

कोलकाता: रोहित शर्मा और जोस बटलर की शानदार  पारियों की बदौलत मुंबई इंडियंस ने कोलकाता नाइटराडर्स को 6 विकेट से हराकर आईपीएल के इस सीजन में अपनी पहली जीत दर्ज की। मुंबई को अपने पहले मैच में पुणे से हार का सामना करना पड़ा था।

रोहित शर्मा ने 84 रनों की शानदार नाबाद पारी खेली  और अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की। वहीं जोस बटलर ने भी रोहित का पूरा साथ दिया। बटलर ने 22 गेंदों का सामना किया और ताबड़तोड़ 41 रन बना डाले।

रोहित और उनकी टीम पुणे सुपरजाइंट्स के हाथों मिली पिछली हार से सबक लेकर इस मैच में कोई गलती नहीं दोहरायी। रोहित ने 54 गेंदों पर नाबाद 84 रन की कप्तानी पारी खेली जिसमें दस चौके और दो छक्के शामिल हैं। उन्हें जोस बटलर (22 गेंदों पर 41 रन) का अच्छा साथ मिला जिनके साथ उन्होंने चौथे विकेट के लिये 66 रन जोड़े। इससे मुंबई 19.1 ओवर में चार विकेट पर 188 रन बनाकर आईपीएल 9 में दूसरे मैच में ही अपना खाता खोलने में सफल रहा।

इससे पहले कप्तान गौतम गंभीर और मनीष पांडे के अर्धशतकों की मदद से कोलकाता नाइटराइडर्स ने पांच विकेट पर 187 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया। गंभीर ने मुंबई के क्षेत्ररक्षकों की ढिलायी का फायदा उठाकर 52 गेंदों पर 64 रन बनाए और पांडे (29 गेंदों पर 52 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिए दस ओवर में 100 रन की साझेदारी की। आंद्रे रसेल ने केवल 17 गेंदों पर 36 रन की तूफानी पारी खेली। मुंबई की तरफ से मिशेल मैकलीनगन ने 25 रन देकर दो विकेट लिए। टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी के लिए उतरने वाले केकेआर ने सहज शुरुआत की। रोबिन उथप्पा दस गेंद पर आठ रन बनाने के बाद कवर पर आसान कैच थमाकर जल्द पवेलियन कूच कर गए। गंभीर और पांडे ने हालांकि केकेआर पर यह क्षटका भारी नहीं पड़ने दिया।

गंभीर ने धीरे-धीरे लय पकड़ी। टिम साउथी पर लगातार दो चौकों के अलावा उन्हें शुरू में रन बनाने के लिये संघर्ष करना पड़ा। बायें हाथ के इस बल्लेबाज को 30 और 55 रन के निजी योग पर जीवनदान भी मिले। पांडे ने शुरू से ही दर्शकों का मनोरंजन करने की कोशिश की और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में दिखायी गयी अपनी फार्म की यादें ताजा की। हार्दिक पांडया पर उन्होंने बिना किसी परेशानी के छक्का लगाया जबकि हरभजन सिंह पर लगाया गया लंबा शाट जबर्दस्त था। गंभीर ने जगदीश सुचित की गेंद छह रन के लिए भेजी जो सात आईपीएल पारियों के बाद उनका पहला छक्का था। उन्होंने 39 गेंदों का सामना करके टी20 में अपना 40वां अर्धशतक पूरा किया।

पांडे ने हालांकि टी20 में 12वां और आईपीएल में पिछले दो साल में पहला अर्धशतक पूरा करने के लिये केवल 26 गेंद खेली। हरभजन की टाप स्पिन पर हालांकि वह चूक गए और गेंदबाज को वापस कैच दे बैठे। उन्होंने अपनी पारी में तीन चौके और इतने ही छक्के लगाए। रसेल ने सही समय पर क्रीज पर कदम रखा और आते ही साउथी पर दो छक्के जड़कर शुरुआत की। उन्होंने मैकलीनगन की गेंद पर बोल्ड होने से पहले हरभजन और जसप्रीत बुमराह की गेंदे भी छह रन के लिए भेजी। पांडया ने गंभीर की पारी का अंत किया जिसमें उन्होंने चार चौके और एक छक्का लगाया।