तंजील हत्याकांड में सिर्फ पूछताछ हुई, गिरफ्तारी नहीं: DGP

तंजील हत्याकांड में सिर्फ पूछताछ हुई, गिरफ्तारी नहीं: DGP

बिजनौर। एनआइए अफसर तंजील अहमद हत्याकांड को लेकर आज बिजनौर पहुंचे प्रदेश के डीजीपी जावीद अहमद ने साफ कर दिया कि इस मामले में अभी तक कोई गिरफतारी नहीं हुई है, सिर्फ सौ लोगों से पूछताछ हुई है। उधर, सहसपुर में बाजार बंद कर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जुलूस निकाला और पुलिस पर निर्दोष लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने का आरोप लगाया। शुक्रवार दोपहर बिजनौर पहुंचे डीजीपी जावीद अहमद ने सबसे पहले पुलिस अफसरों की बैठक ली। इसके बाद पत्रकारों से संक्षिप्त बातचीत में कहा कि तंजील हत्याकांड में अभी तक कोई गिरफतारी नहीं हुई है। सौ लोगों से पूछताछ की गई है। हिरासत में लेने की बात से भी उन्होंने इंकार कर दिया। डीजीपी ने कहा कि पुलिस की जांच सही दिशा में जा रही है और जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा। इसके बाद डीजीपी तंजील अहमद के गांव सहसपुर पहुंचे। उधर, बिजनौर जामा मस्जिद के इमाम अनवारुल हक के नेतृत्व में मुस्लिम समुदाय के सैकड़ों लोगों ने गांव सहसपुर से घटनास्थल तक जुलूस निकाला और पुलिस प्रशासन से मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की। आरोप लगाया कि पुलिस निर्दोषों को हिरासत में लेकर उनका उत्पीड़न कर रही है। घटना के सही खुलासे की मांग की। विरोध में आज सहसपुर का बाजार बंद है। जुलूस को देखते हुए डीजीपी अभी घटनास्थल नहीं गए हैं। वे स्योहारा गेस्ट हाउस पर रुके हुए हैं। शाम को मुस्लिम समाज की आयोजित होने वाली बैठक को लेकर पुलिस व पीएसी की चौकसी बढ़ा दी गई है।

Uttar Pradesh, India