पाकिस्तान ने बदला पैंतरा, शांति प्रक्रिया रोकी

पाकिस्तान ने बदला पैंतरा, शांति प्रक्रिया रोकी

भारतीय जांच दल को नहीं देगा पाकिस्तान आने की इजाज़त 

नई दिल्ली: भारत में पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने स्पष्ट किया है कि पठानकोट  घटना पर भारतीय जांच दल को पाकिस्तान आने की अनुमति नहीं दी जाएगी, भारत-पाक शांति प्रक्रिया निलंबित है और भारत समग्र वार्ता के लिए तैयार नहीं है, बासित ने आरोप लगाया कि भारत-पाक संबंधों में गतिरोध के लिए जिम्मेदार भारत है।

नई दिल्ली में भारतीय मीडिया बात कर रहे अब्दुल बासित ने कहा कि पठानकोट घटना पर भारत ने पाकिस्तानी जांच दल के साथ कोई सहयोग नहीं किया और न तो पाकिस्तानी टीम को गवाहों से बात करने दी गई और न ही भारत ने जांच में पाकिस्तानी टीम को वांछित सहायता प्रदान की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को अस्थिर करने के लिए भारतीय खुफिया एजेंसी "रॉ" गतिविधियों में शामिल है । बासित ने कहा कि बलूचिस्तान से भारतीय जासूस गिरफ्तार किया गया जिसके बाद स्थिति एकदम बदल गयी है, कुलभूषण यादव से मिलने वाले सबूत और दूसरे सबूतों से साफ पता चलता है कि पाकिस्तान को अस्थिर करने में भारत सरकार शामिल है । 

बासित का बयान पठानकोट हमलों की जांच के लिए पाकिस्तान के जांच दल के भारत दौरे को लेकर हुए विवाद के बीच आया है।अब्दुल बासित का ये बयान कई मायनों में हैरान करने वाला है।

माना जा रहा था कि नवाज़ शरीफ और नरेंद्र मोदी की पहल ने दोनों देशों के बीच बातचीत मुमकिन की है। प्रधानमंत्री मोदी हाल ही में अचानक नवाज शरीफ को जन्मदिन की बधाई देने लाहौर पहुंचे। इसके बाद पहली बार ऐसा हुआ कि किसी आतंकी हमले की जांच के लिए पाकिस्तान से टीम भारत आई। लेकिन अचानक ये सिलसिला इस बयान ने बदल दिया है।

India